मुजफ्फरनगर: नसीम हत्याकाण्ड में पुलिस के चार दिन बाद भी हाथ खाली

मुजफ्फरनगर: नसीम हत्याकाण्ड में पुलिस के चार दिन बाद भी हाथ खाली

भोपा। थाना भोपा क्षेत्र के कस्बा भोकरहेडी में बीते सोमवार ऑनर किलिंग के मामले में नसीम पुत्र तसलीम की सरेआम निर्ममतापूर्वक हत्या कर दी गयी थी। मामला दो सम्प्रदायों से जुडा होने के कारण घटना को लेकर प्रशासन के हाथ पांव फूल गये थे। हत्यारों की शीघ्र गिरफ्तारी का आश्वासन देकर प्रशासनिक अधिकारियों ने गुस्साई भीड को शान्त किया था, किन्तु पांच दिन बीतने के बाद भी पुलिस अभियुक्तों की गिरफ्तारी से दूर है। वहीं मृतक के परिजनों ने थाना भोपा पुलिस पर हत्यारों से सांठगांठ के गम्भीर आरोप लगाते हुए आन्दोलन की चेतावनी दी है।
गत 17 जौलाई की सवेरे मोरना-भोकरहेडी मार्ग पर दिन दहाडे 24 वर्षीय नसीम को गोलियों से छलनी कर मौत के घाट उतार दिया था। मृतक नसीम ने दो वर्ष पूर्व एक हिन्दू लडकी से प्रेम विवाह किया था। सोमवार को नसीम बेटे के जन्मदिन पर केक लेकर जा रहा था, तभी ससुराल पक्ष के लोगों ने दो वर्ष पहले की घटना का बदला लेते हुए नसीम की हत्या कर क्षेत्रा में सनसनी फैला दी। मामले में मृतक के चाचा नजर मौहम्मद उर्फ राजू ने प्रदीप पुत्र राजेश, राजेश पुत्र रामसिंह, सोनू पुत्र राकेश, नीटू पुत्र भूषण को हत्यारोपी बनाया था। थाना भोपा पुलिस ने विभिन्न धाराओं में आरोपियों पर मुकदमा कायम करते हुए परिजनों को शीघ्र गिरफ्तारी का आश्वासन दिया था, किन्तु रात गयी बात गयी की मिसाल को चरितार्थ करते हुए पुलिस अभी तक हत्यारों को गिरफ्तार नहीं कर पायी है। मृतक के परिजनों का आरोप है कि थाना पुलिस ने हत्यारों से सांठगांठ कर ली है, जिसके चलते हत्यारों की गिरफ्तारी नहीं हो पा रही है।

Share it
Top