दौरा करने पहुंचे एसडीएम को किसानों ने दिखाई बेबसी

दौरा करने पहुंचे एसडीएम को किसानों ने दिखाई बेबसी

मोरना। बाढ़ की विभीशिका झेल रहे गांवों का एसड़ीएम ने दौरा किया। ग्रामीणों ने गंगा के किनारे बांध बनाने की मांग की। एसड़ीएम ने लेखपालों को नुकसान की रिपोर्ट तैयार करने का आदेश दिया। जिलाधिकारी गौरी शंकर प्रियदर्शी के आदेश पर एसड़ीएम जानसठ ज्ञानप्रकाश त्रिपाठी ने भोपा थाना क्षेत्र के गांव बिहारगढ़ में पहुंच जंगल के रास्ते में भरे गंगा के पानी से होकर खेतों से चारा ला रहे किसानों से बातचीत की, जिसमें किसानों ने बताया कि गांव से गंगा तक एक किलोमीटर तक पानी भरा है, उसके बाद गंगा पार करने के लिए भी मुसीबत से जुझना पड़ रहा है। ग्राम प्रधान बुद्धसिंह चौहान, संजय, शिवकुमार आदि ने एसड़ीएम से शुक्रताल के सच्चा धाम से ककरौली थाना क्षेत्र के गांव मीरावाला तक गंगा किनारे बांध बनवाने की मांग की, तभी गंगा में प्रतिवर्ष आने वाला बाढ़ का पानी जंगल के रास्ते पर व गांव तक आने से रूक पायेगा। इसके बाद गांव मजलिसपुर तौफीर, सिताबपुरी, खैरनगर, महाराज नगर का भी दौरा कर ग्रामीणों से बाढ़ के विषय में जानकारी ली। मजलिसपुर तौफीर के ग्रामीणों ने इस समय पफसलों में भरे सौलानी नदी के पानी से खराब हो रही फसलों का मुआवजा दिलाने की मांग की। इस दौरान भाजपा के युवा नेता अमित राठी ने एसड़ीएम से मांग की कि वर्षा के दौरान उत्तराखण्ड़ के धनौरी से सौलानी में छोड़ने वाले पानी को हरिद्वार से बड़ी गंगा में छोड़ने व बायोवाली से सिताबपुरी को होकर आ रहे नाले की खुदाई सौलानी तक कराने की मांग की, ताकि इन गांवों में बाढ़ न आ सके। एसड़ीएम ने लेखपालों की टीम को सर्वे कर रिपोर्ट तैयार करने का आदेश दिया।

Share it
Share it
Share it
Top