मुजफ्फरनगर: तीन महिलाओं की मौत से कोहराम...बाईक के सामने अचानक आयी भैंस, टक्कर लगने से हुआ हादसा

मुजफ्फरनगर: तीन महिलाओं की मौत से कोहराम...बाईक के सामने अचानक आयी भैंस, टक्कर लगने से हुआ हादसा

मोरना। हादसे में दो महिलाओं की मौत हुई। परिजनों ने बिना किसी कार्यवाही के अंतिम संस्कार किया। पुलिस भी मौके पर पहुंची।
भोपा थाना क्षेत्र के गांव सीकरी के मजरा गांव खुशीपुरा का वसलुदीन अपने बीवी बच्चों सहित 15 दिन पहले मजदूरी पर हरियाणा में धान लगाने गया। शनिवार को वह पत्नी कनीजा 45 वर्ष, बेटी नरगिस को साथ लेकर बाईक से अपने गांव वापस लौट रहा था कि छछरौली व भोकरहेड़ी के बीच ईंट भट्टे के पास सड़क पर अचानक आई भैंस से बाईक की टक्कर हो गई, जिससे कनीजा गिरकर गम्भीर रूप से घायल हो गई और कुछ देर बाद मौके पर ही दम तोड़ दिया। सूचना पर थाना प्रभारी निरीक्षक विजय सिंह पुलिस बल के सथ मौके पर पहुंचे, तो मृतका के परिजनों ने किसी भी प्रकार की कार्यवाही करने से इंकार कर दिया और शव को साथ ले गये। हादसे से मृतका के पति वसलुदीन, बच्चे ईसराईल, सलमान, इसराना, तालिब, इजराना, रिहाना, हीरा, नरगिस, आबिद का रो रो कर बुरा हाल है। दूसरी ओर ककरौली की 55 वर्षीय विधवा कमलेश देवी गत दिवस यात्री बस में बैठकर खतौली में अपनी बेटी सविता से मिलने जा रही थी कि भलेड़ी के पास चलती बस में लगे झटके के कारण वह नीचे गिरकर घायल हो गई, जबकि चालक बस सहित फरार हो गया। राहगीरों ने महिला को जानसठ सीएचसी पर भर्ती कराया, जहां से उसे मेरठ के लिए रैफर कर दिया, जहां उपचार के दौरान गत रात्रि कमलेश की मौत हो गई, परिजनों ने बिना किसी कार्यवाही के मृतका का अंतिम संस्कार कर दिया। हादसे से मृतका के बच्चों अन्नू, कविता, प्रमिता, मोनू पर गमों का पहाड़ टूट गया है। उधर ककराला की 35 वर्षीय रीना ने तीन माह पूर्व एक बच्चे को जन्म दिया, उसके बाद वह बीमार रहने लगी, जिसे बीमारी के चलते मोरना पीएचसी पर भर्ती कराया गया, जहां उसकी मौत हो गई। प्रभारी चिकित्साधिकारी संजीव कुमार ने बताया कि महिला की मौत खून की कमी के चलते हुई है, जबकि पति ने बताया कि प्रसव मेरठ में हुआ, उसके बाद से पांच बोतल खून की चढ़वाई जा चुकी हैं। परिजन महिला के शव को अपने घर ले गये। महिला की मौत से 3 माह के आशु, 13 वर्ष की साक्षी, कीर्ति, उपासना के सिर से मां का साया उठ गया।

Share it
Share it
Share it
Top