भोपा पुलिस ने घर में घुसकर की तोडफोड, महिलाओं से अभद्रता

भोपा पुलिस ने घर में घुसकर की तोडफोड, महिलाओं से अभद्रता

मुजफ्फरनगर। घर में दबिश देने के नाम पर पुलिस ने तोडफोड की और घर की महिलाओं व बच्चों से भी अभद्रता की। इस संबंध में पीडित परिवार ने आज एसएसपी से शिकायत की है। जानकारी के अनुसार भोपा थानाक्षेत्र के गांव अलमावाला निवासी श्रीमति सहेन्द्र कौर पत्नी बूटा सिंह ने आज अपने परिजनों के साथ एसएसपी अनन्तदेव तिवारी से मुलाकात की और एक प्रार्थना पत्रा सौंपते हुए भोपा पुलिस की शिकायत की। पीडित महिला ने बताया कि उसका पति गांव में खेतीबाडी करता है। गांव का ही एक व्यक्ति शराब का व्यापार करता है और उनसे रंजिश रखता है। वह लगातार उसके परिवार को जानमाल का नुकसान पहुंचाने की रंजिश रखता रहता है। बीती सायं वह अपने बच्चों के साथ घर में मौजूद थी, उसी समय शुक्रताल पुलिस चौकी का एक दरोगा बालेन्द्र सिंह सरकारी जीप संख्या यूपी12एजी-0231 को लेकर उसके घर पहुंचा। दरोगा के साथ चार सिपाही भी मय अस्लाह के साथ थे। दरोगा ने आते ही उसके पति बूटा सिंह के बारे में जानकारी ली, जिस पर उसने बताया कि वह जंगल में गये हुए हैं। इतना कहते ही दरोगा पुलिसकर्मियों के साथ उसके घर में घुस गया और तोडफोड शुरू कर दी। घर में रखे संदूक का ताला तोडने का विरोध किया, तो पुलिस ने गालियां देकर उसे धक्का दिया, जिस कारण वह जमीन पर गिर पडी और उसे काफी चोट लगी। उसका हाल में ही पेट का ऑप्रेशन हुआ था, जिस कारण वह दर्द से कराह उठी। पीडिता ने एसएसपी को दिये शिकायती पत्रा में आरोप लगाया कि दरोगा बालेन्द्र सिंह ने संदूक में रखे 50 हजार रूपये जबरन लूट लिये। इस दौरान गांव के ही नरेन्द्र सिंह पुत्र गिरधारी व उसके यहां रिश्तेदारी में आये हुए जगीरा पुत्र दिलीप सिंह निवासी जोगावाला थाना खानपुर जिला हरिद्वार ने बीच-बचाव कराया और शोर मचाकर ग्रामीणों को इकट्ठा किया। गांव वालों के आने पर पुलिस जीप लेकर वहां से चली गयी। जब वह पुलिस उत्पीडन की शिकायत करने भोपा थाने पहंुची, तो उसे वहां से भी भगा दिया गया। पीडित महिला ने एसएसपी से मांग की है कि रिपोर्ट दर्ज कर इस मामले की किसी उच्चाधिकारी से जांच करायी जाये।

Share it
Top