प्रमुख सचिव ने गुड मण्डी स्थित अस्थाई गौ आश्रय स्थल, उप निदेशक कृषि कार्यालय का किया निरीक्षण...प्रमुख सचिव/नोडल अधिकारी ने तहसील खतौली का किया निरीक्षण

प्रमुख सचिव ने गुड मण्डी स्थित अस्थाई गौ आश्रय स्थल, उप निदेशक कृषि कार्यालय का किया निरीक्षण...प्रमुख सचिव/नोडल अधिकारी ने तहसील खतौली का किया निरीक्षण

मुजफ्फरनगर। प्रमुख सचिव कृषि/नोडल अधिकारी अमित मोहन प्रसाद ने आज उप निदेशक कृषि कार्यालय का निरीक्षण किया। उन्होंने कार्यालय में प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के आवदेनों में गलती दूर कराने आ रहे किसानों से भी बात की। उन्होंने कहा कि किसानों को कृषि यंत्र, किसान मेला, मृदा परीक्षण आदि समय-समय पर कराये जाये और किसानों को सहफसली खेती के बारे में बताया जाये। इसके उपरान्त उन्होंने गुड मण्डी स्थित अस्थाई गौशाला का निरीक्षण करते हुए कहा निर्देश दिये कि गौवंश आश्रय स्थलों का निर्माण शीघ्र कराया जाये। कोई भी आवार पशु सडक पर घूमता हुआ न दिखाई दे। उनको आश्रय स्थलों में भिजवाना सुनिश्चित किया जाये। उन्होंने निर्देश दिये कि गौवंश आश्रय स्थलों में सभी मूलभूत सुविधाएं जैसे पानी, शेड व चारे की उचित व्यवस्था की जाये। इसके पश्चात प्रमुख सचिव ने 50 लाख रूपये से ऊपर की परियोजना जिसमें तहसील खतौली परिसर में निर्माणाधीन आवासीय भवनों के निर्माण का स्थलीय निरीक्षण किया। उन्होंने निर्देश दिये कि भवनों का निर्माण शीघ्र पूर्ण कराया जाये और जो भवन तैयार हो गये हैं, उनका आवंटन सुनिश्चित किया जाये। उन्होंने वहां पर साफ सफाई, समतलीकरण व सडक को ठीक कराये जाने के निर्देश दिये। कार्यदायी संस्था द्वारा अवगत कराया गया कि दिसम्बर तक सभी कार्य पूर्ण करा दिये जायेंगे। इसके पश्चात प्रमुख सचिव ने तहसील खतौली का निरीक्षण करते हुए अभिलेखागार, भूलेख कक्ष का निरीक्षण करते हुए प्रार्थना पत्रों के निस्तारण की स्थिति की समीक्षा की। उन्होंने राजस्व अभिलेखागार मे दूधाहेडी ग्राम का बस्ता खुलवाकर प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि में किसानों से प्राप्त घोषणपत्रों को देखा। जिला कृषि अधिकारी ने बताया कि ग्राम दूधाहेडी के प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के 380 किसानों को लाभ दिया गया है। तहसीलदार खतौली के कोर्ट रूम का निरीक्षण करते हुए पुराने वादों का निस्तारण कराया जाये। उन्होंने कहा कि अदम पैरवी मे खारिज मुकदमें का नया नम्बर नहीं होना चाहिए। उन्होंने समीक्षा करते हुए निर्देश दिये कि क्राप कटिंग लेखपालों को दिये गये स्मार्ट पफोन पर एप में अपलोड किया जाने का निरीक्षण किया जाये और गांव के खसरों में पडताल किया जाना सुनिश्चित किया जाये। उन्होंने कहा कि क्राप कटिंग में स्मार्ट पफोन अनिवार्य है। प्रमुख सचिव ने ई-गर्वनेंस, एसडीएम कोर्ट का भी निरीक्षण किया। इस अवसर पर जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे., मुख्य विकास अधिकारी आलोक यादव, नगर मजिस्ट्रेट अतुल कुमार, एसडीएम खतौली, जिला कृषि अधिकारी सहित अन्य सम्बन्धित अधिकारीगण उपस्थित थे।

Share it
Top