कुट्टी मशीन में करन्ट आने से किसान की मौत

मोरना। अलसुबह पशुओं के लिये चारा काटने के लिये कुट्टी मशीन के पास गये किसान की तेज विद्युत करन्ट लग जाने से मौके पर ही मौत हो गयी। सूचना पर पहुँची पुलिस ने घटना की जानकारी लेकर किसान के शव को पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया। परिजनों ने प्रशासन से आर्थिक सहायता की गुहार लगाई है। थाना भोपा क्षेत्र के ग्राम मोरना में करहेड़ा मार्ग पर स्थित बस्ती में 54 वर्षीय दलित व्यक्ति सोमपाल पुत्र रामसिंह 7 बीघा जमीन में खेती व मजदूरी कर परिवार की गुजर बसर करता था। रविवार की सुबह सवेरे सोमपाल अपने घेर में बँधे पशुओं के लिये चारा काटने के लिये कुट्टी मशीन के पास गया, जैसे ही सोमपाल ने मशीन का पावर स्विच ऑन कर कुट्टी मशीन को छुआ, तभी सोमपाल को बिजली का तेज करन्ट लगा। सोमपाल करन्ट लगने से बेहोश हो गया तथा उसने मौके पर ही दम तोड़ दिया। सूचना पर पहुँची भोपा पुलिस ने घटना की जानकारी लेकर शव का पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया। सोमपाल की अचानक मौत से परिवार में कोहराम मच गया है। सोमपाल की माता अतरी देवी, पत्नी रविता, पुत्री सोनिया, खुशी व पुत्र चरित्र का रो-रोकर बुरा हाल है।

जानलेवा बनी पावर कुट्टी मशीन: देसी तकनीक द्वारा तैयार की गयी पावर कुट्टी मशीन किसानों के लिए जानलेवा साबित हो रही है। लोहे की एंगल द्वारा तैयार लोहे के फ्रेम पर कुट्टी मशीन के बराबर में ही विद्युत मोटर को लगा दिया जाता है। पावर मोटर में लगे बिजली के तार मशीन के हिलने के कारण अक्सर लोहे के प्रफेम के सम्पर्क में आ जाते हैं, जिससे बिजली का करंट लोहे के फ्रेम व कुट्टी मशीन में दौड जाता है। पिछले कुछ माह में सीकरी, रहमतपुर, धीराहेडी सहित अन्य स्थानों पर इस प्रकार की कुट्टी मशीन किसानों की जान ले चुकी है। पिछले दो माह में इस प्रकार का यह तीसरा हादसा है। तीनों मृतक दलित हैं। 7 अक्टूबर को मोरना में 66 वर्षीय भागमल, 11 अक्टूबर को स्वराज की मौत इसी प्रकार की कुट्टी में आए करंट के कारण हो चुकी है। मृतक सोमपाल की नातिन रेखा सहित अन्य महिलाओं ने इस प्रकार की कुट्टी मशीन पर पाबन्दी लगाने की मांग की है।

Share it
Top