फर्जी बैनामा कर रेलवे को बेची जमीन...पीडितों ने लेखपाल पर लगाया गलत रिपोर्ट लगाने का आरोप

फर्जी बैनामा कर रेलवे को बेची जमीन...पीडितों ने लेखपाल पर लगाया गलत रिपोर्ट लगाने का आरोप

मुजफ्फरनगर। मीडिया सेंटर पर मंगलवार को एक प्रेस वार्ता का आयोजन किया गया, जिसमें तहसील खतौली क्षेत्र के गांव जहांगीरपुर निवासी कुछ लोगों ने अपने परिजनों व लेखपाल पर सांठगांठ करके फर्जी बैनामा कर रेलवे को जमीन बेचने का आरोप लगाया है। इस विषय में जानकारी देते हुए पीडि़तों ने बताया कि वह तहसील खतौली के अंतर्गत आने वाले गांव जहांगीरपुर के रहने वाले हैं। उनकी जमीन मौजा जहांगीरपुर में खसरा नंबर 264 में स्थित है। यह सामलात खाता है, वह सभी मौके पर रेलवे की तरफ का काबिज हैं। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि 600 मीटर जमीन लगभग 16 परिजनों के नाम है। इसमें से उनके सह खातेदारों लोकेश कुमार, मुकेश, संतोष, भोपाल, रामनाथ व पप्पू ने हल्का लेखपाल इंद्रवीर जड़ौदा वाले के साथ सांठगांठ करके रेलवे के हक में फर्जी तरीके से 115 मीटर भूमि का बैनामा करा दिया। लेखपाल द्वारा उनके हक में रिपोर्ट लगाने के लिए पैसों की मांग की गई। उनके द्वारा मना करने पर लेखपाल द्वारा गलत रिपोर्ट लगा दी गई। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि फर्जी तरीके से बैनामा करने वालों ने मुआवजे के आये 496800 ले लिए। उन्होंने बताया कि प्रत्येक सदस्य को अनुदान के रूप में 528000 मिलने वाले हैं। पूरी 600 मीटर जमीन एक करोड़ से ऊपर की है। वह अपनी जमीन पर काबिज हैं। रेलवे विभाग उन्हें बिना मुआवजा दिए ही काबिज होना चाहता है। जिन लोगों ने बैेनामा कराया है, उनकी जमीन दूसरी ओर है। पीडि़तों ने मांग की कि इस मामले में गवाही देने वाले खतौली के लेखपाल मनीष, हल्का लेखपाल इंद्रवीर सहित फर्जी बैनामा करने वालों के विरुद्ध कार्रवाई की जाए। साथ ही किया गया बैनामा भी समाप्त किया जाए। पीडि़तों में धर्मपाल, श्यामलाल, फूल समंदरी, सूरजमल, कल्पना, प्रवीण, रामधन, बबलू, मदनलाल, भरत, सुमन तथा जयवीरी वार्ता में उपस्थित रहे।

Share it
Top