धूमधाम से निकाला गया गुरूनानक देव का कीर्तन....गाँधी कालोनी से प्रारम्भ होकर रोडवेज बस स्टैंड गुरूद्वारे पर समाप्त हुआ कीर्तन

मुजफ्फरनगर। धूमधाम से निकाला गया 550 साला नगर कीर्तन श्री गुरू सिंह सभा मुजफ्फरनगर की ओर से जगत गुरू कलयुग के अवतार साहिब श्री गुनानक देव जी महाराज के 550वां प्रकाश पूरब के उपलक्ष में नगर कीर्तन का आयोजन किया गया। नगर कीर्तन बाबा साबेज सिंह जी कोटा वाले, बाबा रणजीत सिंह पनियाली वाले तथा उत्तमचंद शर्मा द्वारा प्रारम्भ कराय गया। नगर कीर्तन दोपहर 12.30 बजे गुरू द्वारा गांधी कालोनी से प्रारम्भ हुआ। नगर कीर्तन लिंक मार्ग भोपा रोड, अंसारी रोड, नावल्टी चौक, शिवजी मूर्ति व झांसी की रानी से होता हुआ रात्रि 8 बजे गुरू द्वारा निकट रोडवेज पर पूर्ण हुआ। नगर कीर्तन में कई बैंड तथा गुरू गोविंद सिंह पब्लिक स्कूल के बच्चों का बैंड, पंजाब से आये बैगपाइपर बैंड व गतका पार्टी इस शोभायात्रा में मुख्य आकर्षण का केन्द्र रहे। नगर कीर्तन में सभी युवा संगतों ने सफेद रंग के कपड़े व केसरी रंग की पगडी पहनी तथा स्त्रियों ने सफेद रंग के कपड़े तथा केसरी रंग के दुपट्टे ले रखे थे। श्री गुरू ग्रंथ साहिब जी की पालकी के आगे आगे जल छिडक कर व झाडू लगाकर अपनी श्रद्धा व प्रेम भाव को व्यक्त कर रही थी। नगर कीर्तन की संगतों के लिये लंगर लगाये गये थे। उन संगतों ने नगर कीर्तन निकल जाने के बाद फैले हुए लंगर के अवशेषों को साफ किया। गतका पार्टी ने गतका पार्टी ने गतके में अपना जोहर दिखाकर पुरातन युद्ध शैली की याद ताजा की। आज के नगर कीर्तन में आसपास के गांव बधेला, मारकपुर, बढीवाला, दादूपुर, बैंकुठपुर, शेरपुर, सुहेली, जिंदावाला, आलमावाला, तुगलकपुर खालसा, लड़वा, अमीननगर, नसीरपुर, हसनपुर लहुारी, पनियाली, गागलहेडी, शामली देवल, सिसौना आदि से आई संगतों ने भाग लिया। महासचिव सरदार धनप्रीत सिंह चन्नी बेदी ने बताया कि मुख्य पर्व 12 नवम्बर को गुरूद्वारा रोडवेज पर प्रात: 9 बजे से दोपहर 2 बजे तक दीवान सजेगा, जिसमे बीबी कोर व जसप्रीत कौर सहित गुरचरणसिंह पटियाला कीर्तन द्वारा संगतों को निहाल करेंगे। ज्ञानी हरजीत सिंह, ज्ञानी जोगा सिंह, गुरूनानक देव जी साहिब के प्रकाश पर्व पर गुरू के इतिहास का वर्णन करेंगे। आज के कार्यक्रम को सफल बनाने में प्रधान अमरजीत सिंह सिढाना, सरदार धनप्रीत सिंह बेदी, सरदार वीरेन्द्र सिंह हनी सिंह सेखो, सरदार वजीर सिंह, सरदार सुरजीत सिंह, सरदार प्रभजोत सिंह, सरदार गुरप्रीत सिंह, सरदार हरप्रीत सिंह, सरदार हरप्रीत सिंह, सरदार जितेन्द्रपाल सिंह, गुरूनाम सिंह रणधवा, सरदार त्रिलोचंद सिंह मान, सरदार वजीर सिंह ग्रोवर, सरदार इन्द्रजीत सिंह सेखो, सरकार गुरचरण सिंह कोहली, सरदार देवेन्द्र सिंह नागपाल, सरदार सुखमंदर सिंह, डा. उजागर सिंह, स. मोहन सिंह सिढाना, सरदार सुखवीर सिंह रावल, सरदार तीर्थ सिंह गंभीर, सरदार अवतार सिंह, सरदार रविन्द्रसिंह, सरदार मनजीत सिंह भाटिया, सरदार चरण दीप सिंह सहित सैकडों की संख्या में समाज के लोग शामिल रहे।

Share it
Top