सभी ने किया सुप्रीम कोर्ट के निर्णय का तहेदिल से स्वागत....नगर के बाजार पूरी तरह से रहे खुले, आवाजाही हुई प्रभावित

सभी ने किया सुप्रीम कोर्ट के निर्णय का तहेदिल से स्वागत....नगर के बाजार पूरी तरह से रहे खुले, आवाजाही हुई प्रभावित

मुजफ्फरनगर। देश की सर्वोच्च अदालत द्वारा आज सुनाये गये निर्णय का आज सभी पल पल प्रतीक्षा कर रहे थे। इसके लिये प्रशासन की ओर से चाकचौबंद व्यवस्था की गई थी। हर प्रमुख स्थाल चौराहे आदि पर भारी सुरक्षाबल लगाया गया था। सुप्रीम कोर्ट के निर्णय के उपरान्त नगर में किसी भी स्थान पर किसी भी प्रकार की गतिविधि देखने को नहीं मिलीे, जिससे किसी भी प्रकार का गतिरोध उत्पन्न हो। शामली बस स्टैंड, रोडवेज बस स्टेंड सहित रेलवे स्टेशन पर आम दिनों के मुकाबले स्थिति बदली नजर आई। बाजार पूरी तरह से खुले रहे। प्रशासन व पुलिस अधिकारी भी पूरे दिन अपनी निगाहे गढाये रहे। शनिवार को देश की सर्वोच्च अदालत ने अयोध्या मामले पर अपना ऐतिहासिक निर्णय सुनाया। इस निर्णय को लेकर पुलिस व प्रशासन ने अपनी किलेनुमा व्यवस्था कायम कर रखी थी। हर चौराहे व प्रमुख स्थानों पर भारी पुलिस बल तैनात किया गया था। जगह जगह पर तलाशी अभियान जारी था। प्रशासन की ओर से अपनी रणनीति के तहत सभी गणमान्य लोगों को साथ लेकर हाल के दिनों में शांति समिति की गई बैठकों का असर भी आज देखने को मिला। एक दो स्थानों को छोड़कर सभी बाजार प्रात: 8 बजे के आसपास खुलने प्रारम्भ हो गये थे, जो कुछ शेष थे वह भी निर्णय के बाद खुल गये थे। खालापार में फक्करशाह चौक पर स्थित एक दुकानदार ने बताया कि स्थिति सामान्य है वह प्रात: 8 बजे ही अपनी दुकान खोलकर बैठ गये थे। वहीं दूसरी ओर ईदगाह के पास स्थित एक फल विक्रेता का कहना था कि स्थित पूरी तरह से सामान्य हैं। सभी भाईचारे के साथ अभी तक रहते आये और आगे भी रहेंगे। वह प्रात: 8 बजे ही अपने कार्य पर आ गये थे। विवाद से किसी का भला नहीं होता है, नुकसान ही होता है। शिवचौक, भगत सिंह रोड, आबकारी रोड, मेरठ रोड, सिटी सेंटर, सराफा बाजार, लोहिया बाजार, भगत सिंह रोड, गांधी कालोनी, जानसठ रोड, नईमंडी आदि के बाजार पूरी तरह से खुले रहे। बाजारों में आम दिनों के मुकाबले ग्राहकी कम रही। दुकानदारों का कहना था कि आज आम दिनों के मुकाबले जहां एक और ग्रामीण क्षेत्र से आवाजाही 90 प्रतिशत शून्य है, वहीं दूसरी ओर शहरी क्षेत्र में भी कम रही है। वहीं दूसरी ओर शामली बस स्टैंड व रोड़वेज बस स्टेंड पर बसो में यात्रियों की संख्या आम दिनों की अपेक्षा लगभग 35 प्रतिशत कम रही। शामली बस स्टैंड पर डग्गामारी करने वाले एक वाहन चालक का कहना था कि आज खोजे से भी यात्राी नहीं मिल रहे है। दूसरी ओर रोड़वेज डिपो के सहायक क्षे0 प्रबंधक बीपी अग्रवाल का कहना था कि आज डिपो को आम दिनों के मुकाबले 7 लाख की आय कम हुई है। प्रतिदिन औसतन 22 लाख के आसपास आय होती थी। मुजफ्फरनगर रेलवे स्टेशन अधीक्षक विपिन कुमार त्यागी का कहना था कि ट्रैन में आम दिनों के मुकाबले यात्रियों की संख्या थोडी बहुत कम रही है। रेलवे पर इनकम को लेकर अधिक प्रभाव नहीं पड़ा है। कुल मिलाकर सार है कि आज नगर में आवाजाही एतिहात के तौर पर कम रही। सभी ने आये निर्णय का सभी ने तहे दिल से स्वागत किया। किसी भी स्थान पर गम या खुशी का कोई मामला प्रकाश में नहीं आया। पूरे दिन पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी स्थिति पर नजर बनाये रखे थे। निर्णय आने के बाद जिला अधिकारी सेल्वाकुमारी जे., पुलिस कप्तान अभिषेक यादव, सिटी मजिस्ट्रेट अतुल कुमार शिव चौक पर पहुंचे और स्थिति का जायजा लिया। दोपहर बाद डीआईजी व कमिश्नर ने भी आकर स्थिति का मौका मुआयना किया। अनेक स्थानों पर हिंदू व मुस्लिम समुदाय के लोग आपस में बैठकर निर्णय का स्वागत करते हुए नजर आये।

Share it
Top