गाड़ी दिलाने के नाम पर सात लाख रूपये की धोखाधाड़ी

गाड़ी दिलाने के नाम पर सात लाख रूपये की धोखाधाड़ी

मुजफ्फरनगर। दो दोस्तों से धोखाधाड़ी कर गाड़ी दिलाने के नाम पर सात लाख रूपये की धोखाधाड़ी कर ली गई। आरोपियों ने तो पीडि़तों को गाड़ी ही दिलाई और न ही वह उनके रूपये वापिस कर रहे हैं। इस मामले में पीडि़तों ने पुलिस को तहरीर देकर कार्रवाई किये जाने की मांग की है। तहरीर पर पुलिस ने कार्रवाई करते हुए मामले की जांच शुरू करदी है। शहर कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला लद्दावाला निवासी दिलशाद अहमद पुत्र इकबाल ने पुलिस को दी गई तहरीर में बताया कि वह तथा उसका मित्र मोहित गोयल बोलेनो गाड़ी खरीदने का मन बना रहे थे। उनकी मुलाकत शकील अहमद पुत्र सलमुदीन निवासी लद्दावाला से हुई, जिसने दिल्ली से सस्ती गाड़ी दिलाने का उन्हें आश्वासन दिया। आरोप है कि शकील उन्हें दिल्ली के मुस्तुफाबाद ले गया और वहां उसने उन्हें रईस से मिलवाया, जिसने उन्हें सस्ती गाडी दिलाने का वायदा किया। आरोप है कि उन्होंने शकील के कहने पर रईस के खाते में अलग-अलग कुल साढे चार लाख रूपये ट्रांसफर कर दिये, परन्तु रईस ने उन्हें गाडी नहीं दिलाई। उनके दबाव बनाने पर आरोप ने उन्हें कहा कि वह उन्हें बोलेनो से अच्छी गाड़ी दिला देगा, जिसके लिए उसने ढाई लाख रूपये की ओर मांग की। 22 अगस्त को पीडि़त पक्ष ने आरोपी के खाते में ढाई लाख रूपये भी स्थानांतरित कर दिये। आरोप है कि रईस उन्हें गाड़ी नहीं दिला रहा और टाल-मटौल कर रहा है। रूपये वापिस मांगने पर आरोपी ने उन्हें जान से मारने की धमकी दी। आरोप है कि 31 अक्तूबर को जब वह मोहित गोयल व अमजद सैपफी के साथ बैठा हुआ था, तो तभी शकील, रईस, गुलफाम अपने दो अज्ञात साथियों को लेकर पहुंचा और धमकी देने लगा कि यदि गाडी के बारे में या रूपयों के बारे में कोई बात की, तो वह उसकी हत्या करा देंगे। पीडि़त ने आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई किये जाने की मांग की है।

Share it
Top