भाकियू ने विद्युत अधिकारियों को बनाया बंधक ... अवैध् वसूली व भाकियू कार्यकर्ता के खिलाफ बिजली चोरी का मुकदमा दर्ज होने पर हंगामा

भाकियू ने विद्युत अधिकारियों को बनाया बंधक ... अवैध् वसूली व भाकियू कार्यकर्ता के खिलाफ बिजली चोरी का मुकदमा दर्ज होने पर हंगामा

मुजफ्फरनगर। मंसूरपुर थाने में भाकियू कार्यकर्ता के खिलाफ विद्युत चोरी का मुकदमा दर्ज होने से गुस्साये भाकियू अध्यक्ष धीरज लाटियान के नेतृत्व में सैंकड़ों कार्यकर्ताओं ने आज ग्राम जड़ौदा में पहुंचे। बताया जा रहा है कि विद्युत विभाग की हठधर्मिता व अवैध वसूली चल रही थी, जिसका विरोध भाकियू कार्यकर्ता अमित द्वारा किये जाने पर विद्युत विभाग ने उसके खिलाफ मुकदमा कर दिया। इसका पता लगने पर जिलाध्यक्ष धीरज लाटियान मौके पर जड़ौदा पहुंचे और पीडि़त किसानों की समस्या सुनी और मुकदमा वापिस कराने का आस्वासन दिया, तभी ग्रामीणों ने सूचना दी कि आज गांव में अभी विद्युत विभाग द्वारा कुछ किसानों से वसूली की गई है और विद्युत टीम गांव में ही मौजूद है। इसके चलते धीरज लाटियान द्वारा मौके पर ही विद्युतत विभाग की टीम को बंधक बना लिया। इसके बाद उच्चधिकारियों की वार्ता करायी गयी, जिनके आश्वासन पर विद्युत विभाग की टीम को छोड़ा गया और ग्राम जड़ौदा में अवैध वसूली का तांडव करने वाले जेई व दो कर्मचारियों का स्थानांतरण करने का आश्वासन भी दिया। धीरज लाटियान द्वारा विद्युत विभाग को सीधी चेतावनी दी गयी कि किसी भी तरह से भाकियू कार्यकर्ता व किसानों का शोषण नहीं होने देगी और आगामी 9 नवम्बर को ग्राम जड़ौदा की एक पंचायत होगी, जिसमें जिलाध्यक्ष धीरज लाटियान पहुचेंगे। भाकियू कार्यकर्ताओं द्वारा आरोप लगाया गया कि क्षेत्रा के गांव जडौदा मेें विद्युत विभाग द्वारा बिजली कनेक्शन काटने को लेकर महीनों से अवैध् वसूली की जा रही थी, जिसका भाकियू कार्यकर्ता अमित कुमार ने विरोध् किया, तो विद्युत विभाग ने उसके खिलाफ मंसूरपुर थाने में मुकदमा दर्ज करा दिया। इतना ही नहीं विद्युत अधिकारियों के दबाव में पुलिस ने कई बार अमित के घर दबिश दी, लेकिन अमित पुलिस के हाथ नहीं आया। अमित ने इस पूरे मामले की जानकारी भाकियू जिलाध्यक्ष धीरज लाटियान को दी, तो गांव मेें पहुंचे। इसी दौरान एक ग्रामीण ने उन्हें बताया कि गांव के दूसरे छौर पर विद्युत विभाग के कर्मचारी बिजली के कनैक्शन काट रहे हैं। इस पर धीरज लाटियान वहां पहुंच गये और विद्युत विभाग की टीम को बंध्क बना लिया। सूचना मिलने पर मंसूरपुर थाने के एसएसआई क्षितिज कुमार व बेगराजपुर चौकी प्रभारी भी पुलिस टीम के साथ वहां पर पहुंचे और दोनों पक्षों में समझौता कराने का प्रयास किया। भाकियू नेताओं ने कहा कि अवैध वसूली करने वाली विद्युतकर्मियों का तबादला दूसरी जगह किया जाये और अमित के खिलाफ दर्ज रिपोर्ट वापिस ली जाये। इस बात पर दोनों पक्षों में सहमति बन गयी। इसके बाद विद्युत विभाग की टीम को बंधनमुक्त कर दिया गया। धीरज लाटियान ने कहा कि किसी भी कीमत पर विद्युत विभाग द्वारा किसानों का शोषण बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। इस मौके पर भाकियू नेता अहसान त्यागी, शौकीन त्यागी, अमित उपर्फ नीटू, मनोज, अंकुर, मिंटू, शाहिद आलम, मुबारिक राव आदि कापफी संख्या में ग्रामीण व भाकियू कार्यकर्ता मौजूद रहे।

Share it
Top