छात्र-छात्राओं का सहयोग लेगी मुजफ्फरनगर पुलिस... साम्प्रदायिक सौहार्द बनाने के लिए अब स्कूलों में पहुंचकर की जा रही है सदभावना गोष्ठी

छात्र-छात्राओं का सहयोग लेगी मुजफ्फरनगर पुलिस... साम्प्रदायिक सौहार्द बनाने के लिए अब स्कूलों में पहुंचकर की जा रही है सदभावना गोष्ठी

मुजफ्फरनगर। अयोध्या में श्रीराम मन्दिर को लेकर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने से पूर्व जनपद पुलिस लगातार शांति व्यवस्था बनाये रखने की हर सम्भव कोशिश में जुटी हुई है। जनपद में साम्प्रदायिक सौहार्द बनाये रखने के लिए शांति समिति की बैठक, सदभावना गोष्ठी, स्कूल-कॉलेजों में बैठक, नुक्कड़सभा, पैदल मार्च व फ्लैग मार्च लगातार किये जा रहे हैं। अब पुलिस ने स्कूलों में जाकर छात्र-छात्राओं से भी सुप्रीम कोर्ट के फैसले को हृदय से स्वीकार करने की अपील की है और जिले में साम्प्रदायिक सौहार्द बनाये रखने में सहयोग करने को कहा है। एसएसपी अभिषेक यादव व उनकी पुलिस टीम जनपद में साम्पदायिक सौहार्द बनाये रखने के लिए विशेष प्रयास में जुटी हुई है। अति संवेदनशील जनपदों की श्रेणी में आने के कारण मुजफ्फरनगर पर विशेष निगाह रखी जा रही है। एसएसपी अभिषेक यादव, एसपी सिटी सतपाल अंतिल, सीओ सिटी दीक्षा शर्मा लगातार विभिन्न थाना क्षेत्रों में शांति समिति की बैठक, सदभावना गोष्ठी, नुक्कड़ सभा, पैदल गस्त, फ्लैग मार्च कर रहे हैं। आज साम्प्रदायिक सौहार्द बनाये रखने के लिए मंसूरपुर पुलिस स्कूलों में पहुंची और छात्र-छात्राओं से अपील की कि कोर्ट के फैसले को हृदय से स्वीकार करें। मंसूरपुर थाना क्षेत्र के गांव सोहंजनी तगान के राखी पब्लिक स्कूल व गांव पुरा में अरविंद इंटर कालेज में पुलिस ने छात्र-छात्राओं से सीध संवाद किया। मंसूरपुर थाना प्रभारी मनोज कुमार चहल ने छात्र-छात्राओं से कहा कि सुप्रीम कोर्ट द्वारा दिये गये फैसले को दोनों समुदाय के लोग हृदय से स्वीकार करें और किसी भी प्रकार की टीका-टिप्पणी नहीं करेंगे। किसी भी समुदाय के लोग फैसले को लेकर किसी भी तरह की छींटाकशी नहीं करें। इसके अलावा सोशल मीडिया पर भी अफवाह न फैलायेंगे और न ही किसी को फैलाने देंगे। किसी भी प्रकार की कोई अप्रिय घटना या सम्भावना हो, तो इसी सूचना तुरंत पुलिस को दें। सभी आपस में मिल-जुलकर रहें। दोनों कॉलेजों में सभी छात्र-छात्राओं व स्कूल के स्टाफ ने एक सुर में पुलिस को सहयोग देने का आश्वासन दिया। थाना सिविल लाईन में सीओ सिटी दीक्षा शर्मा की अध्यक्षता में आज शांति समिति की बैठक हुई। बैठक का संचालन सिविल लाईन थानाध्यक्ष समयपाल अत्राी ने किया। उच्चतम न्यायालय से अयोध्या के फैसले के कारण पुलिस प्रशासन पूरी सतर्कता बरत रहा है। सिविल लाईन थाने में क्षेत्रा के डिजीटल वालिंटियर्स व गणमान्य लोगों को सीओ दीक्षा शर्मा ने सम्बोधित किया। उन्होंने कहा कि अयोध्या को लेकर कोर्ट का जो भी फैसला आयेगा, उसे सभी दिल से स्वीकार करें और एक-दूसरे पर छींटाकशी न की जाये। उन्होंने शांति व्यवस्था बनाये रखने की भी अपील की। सिविल लाईन थानाध्यक्ष समयपाल अत्राी ने क्षेत्र में रह रहे व्यक्तियों से शंाति व्यवस्था को बनाये रखने हेतु अपील की। उन्होंने छोटी से छोटी घटना की जानकारी भी पुलिस को देने को कहा है। बैठक में सभी पुलिस अधिकारियों थाना प्रभारी, चौकी इंचार्ज व बीट आरक्षी, के मोबाईल नम्बर को भी साझा किया गया, ताकि किसी प्रकार की घटना की सूचना तत्काल प्राप्त हो सके और समय रहते किसी भी अप्रिय घटना पर तत्काल कार्यवाही की जा सके। सभी लोगों ने क्षेत्र में आपसी भाईचारा व साम्प्रदायिक सौहार्द बनाये रखने में पूर्ण सहयोग देने का आश्वासन पुलिस विभाग को दिया। दोनों वर्ग आपसी प्यार-मौहब्बत से रहेंगे और कोई भी घटना नहीं होने दी जायेगी। मुजफ्फरनगर का नाम हमेशा की तरह मौहब्बतनगर बना रहेगा। इसके बाद सिविल लाईन पुलिस ने स्कूली छात्र-छात्राओं से भी मुलाकात कर शांति व्यवस्था बनाये रखने में सहयोग देने को कहा और सभी छात्र-छात्राओं को पुलिस अधिकारियों के मोबाईल नम्बर दिये गये, ताकि कोई भी अप्रिय घटना घटित होने पर तत्काल पुलिस को सूचना दी जा सके। सोशल मीडिया के किसी भी प्लेटफार्म पर भ्रामक खबर को शेयर न करने की अपील भी छात्र-छात्राओं से की गयी हैें।

Share it
Top