पचैंडा रोड पर श्रीकृष्ण गौशाला में गौपाष्टमी पर्व हर्षोल्लास से मनाया, गौमाता की सेवा ही सच्ची सेवा: अनिल रॉयल

मुजफ्फरनगर। पचैंडा रोड पर स्थित श्रीकृष्ण गौशाला में आज गौपाष्टमी पर्व हर्षोल्लास से मनाया गया। इस अवसर पर गायों की पूजा-अर्चना व सेवा की गयी, जिसमें बडी संख्या में श्रद्धालुओं ने भाग लिया। हवन व गौमाता पूजन के पश्चात भंडारा भी हुआ, जिसमें बडी संख्या में प्रसाद ग्रहण किया गया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि दैनिक रॉयल बुलेटिन के प्रधन सम्पादक व मीडिया सैंटर के अध्यक्ष अनिल रॉयल ने भी हवन में आहूति दी और उसके बाद गौमाता पूजन किया। श्रीकृष्ण गौशाला प्रन्यास सभा के मुख्य संरक्षक अनिल रॉयल ने कहा कि गौपाष्टमी पर आज गौशाला में गायों की पूजा की गयी और उन्हें तिलककर गुड व चारा खिलाया गया। उन्होंने बताया कि इस गौशाला के अन्दर 315 गाय है, जिनकी सब मिलकर देखभाल करते है। कई गाय ऐसी है, जो दूध् भी नहीं दे रही है, लेकिन उनकी सेवा व देखभाल में कोई कमी नहीं रखी जा रही है। उन्होंने कहा कि हिंदू धर्म में सदा ही गायों की पूजा की जाती है और आज गौपाष्टमी के विशेष दिन हवन के पश्चात गायों की पूजा की गयी। उन्होंने कहा कि सभी को मिलकर गायों की देखभाल करनी चाहिए और इन्हें खुले में नहीं छोडना चाहिए। गाय हर तरह से हम सबके लिए बेहद उपयोगी है और इसका दूध्, घी, दही के साथ-साथ गोबर व मूत्र भी औषध्यिों में काम आता है। उन्होंने बताया कि यह गौशाला कार्यकारिणी के सभी पदाधिकारी व सदस्य अपने निजी खर्चे पर चलाते है और सरकार से किसी तरह का कोई अनुदान भी नहीं मिलता है। सरकार गौशाला भी बनवा रही है और धन भी खर्च कर रही है, लेकिन सरकारी अधिकारियों के कारण उसका सदुपयोग नहीं हो पा रहा है। इस मौके पर विशिष्ठ अतिथि सरवट ग्राम प्रधानपति व वरिष्ठ भाजपा नेता पं. श्रीभगवान शर्मा ने भी अपने विचार रखे। उन्होंने बताया कि आज के दिन भगवान श्रीकृष्ण ने गायों और बछडों की पूजा-अर्चना आज ही के दिन शुरू की थी, इसके चलते सभी देशवासी गौपाष्टमी का पर्व मनाते थे। उन्होंने गौशाला के संचालन में हर सम्भव सहयोग देने का आश्वासन दिया है। उन्होंने कहा है कि गौमाता की सेवा ही सबसे बडी सेवा है। सरकार भले ही कितनी ही गौशाला बनवा ले, लेकिन जनता के सहयोग के बिना इसमें सफलता नहीं मिल सकती। हम सबको मिलकर गायों की सेवा करनी चाहिए और कोई भी अपनी गायों को खुली ना छोड़े, यदि गाय ने दूध् देना बंद कर दिया है और उसे पालने में सक्षम नहीं है, तो वह गौशाला में छोड़ सकता है। इस मौके पर गौशाला में तरफ जाने वाली सड़क बनवाने पर पं. श्रीभगवान शर्मा का गौशाला के पदाधिकारियो ने माला पहनाकर आभार जताया। पं. श्रीभगवान शर्मा ने नाली निर्माण भी शीघ्र कराने का आश्वासन दिया है। इसके पश्चात प्रदेश सरकार में राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार कपिलदेव अग्रवाल व राज्य अल्पसंख्यक आयोग के सदस्य सरदार सुखदर्शन सिंह बेदी भी गौशाला पहुंचे और गायों की सेवा की। इससे पूर्व प्रात: के समय गौशाला में हवन हुआ, जिसमें मुख्य यजमान शिवदास डंग, विष्णु डंग, जिले सिंह चौहान व नरेन्द्र सिंह रॉयल ने पूर्णाहूति दी। तत्पश्चात गौपूजन हुआ और फिर भंडारे का आयोजन किया गया, जिसमें हजारों श्रद्धालुओं ने प्रसाद ग्रहण किया। इस अवसर पर कस्तूरीलाल मलिक, राकेश कुमार मित्तल, डा. मनोज काबरा, शैलेन्द्र माहेश्वरी, अंकित सिंघल, प्रदीप अरोरा, नीरज गोयल, संजीव गर्ग, अनिल कुमार बिंदल, संदीप जैन, श्रीमती त्रिशला जैन, ठा. सुरेन्द्र सिंह, डा. प्रेमसिंह, इंजी. राजेन्द्र साहनी, हरेन्द्र रॉयल, प्रेमप्रकाश अरोरा, रमेश ठाकुर, सुरेश शर्मा, समेन्द्र शर्मा, मुकुल दुआ, भीमसेन कंसल, शरद गोयल, भगवानदास अरोरा, अशोक सिंघल, पवन कुमार, विनोद कुमार, योगेन्द्र जैन, अमरीश अग्रवाल, विनोद बंसल, अजय गर्ग, रमेश केडिया, प्रदीप गर्ग, दीपक अरोरा, बनारसीदास, मा. सौरभ, सतीश शर्मा, सुशील जैन, विजय कुमार काका, अशोक तायल, हरिमोहन बंसल, विकास गर्ग, संदीप मित्तल, विजय कुमार सिंघल, संजयवीर सिंह, लाला गजेन्द्र, चौ. महावीर सिंह, सुमन अग्रवाल, किशोर दुआ, विकास कुमार, गजेन्द्र राणा, पंकज गुप्ता, राजीव पाहुजा, संजय मलिक, विजय कुमार, बिजेन्द्र सिंह, शिशुकांत गर्ग एडवोकेट अमरकांत गुप्ता मुख्यरूप से मौजूद रहे।

Share it
Top