गलत ऑपरेशन का आरोप लगाकर डा. रश्मिकांत के विरूद्ध दायर परिवाद निरस्त

गलत ऑपरेशन का आरोप लगाकर डा. रश्मिकांत के विरूद्ध दायर परिवाद निरस्त

मुजफ्फरनगर। जिला उपभोक्ता विवाद प्रतितोष फोरम ने वरिष्ठ सर्जन डा. रश्मिकांत के विरूद्ध दायर किया गया परिवाद निरस्त कर दिया है। फोरम ने एक बच्चे के हार्निया के गलत ऑपरेशन का आरोप लगाकर डा. रश्मिकांत के विरूद्ध दायर किया गया परिवाद यह कहते हुए निरस्त कर दिया कि परिवादी अपने आरोपों को सिद्ध करने में असफल रहा है और ऑपरेशन में कोई लापरवाही डॉक्टर रश्मिकांत द्वारा नहीं की गयी है। इसी के चलते फोरम ने परिवाद सव्यय निरस्त कर दिया है। शहर कोतवाली क्षेत्र के अन्तर्गत भगतसिंह रोड पर ताराचंद मार्किट में डा. रश्मिकांत सर्जन के यहां पर चरथावल निवासी विपिन कुमार ने अपने सात वर्षीय पुत्र पुलकित का हार्निया का ऑपरेशन 27 मार्च 1997 को कराया था। इस ऑपरेशन में काफी खर्चा आया था। लगातार चार वर्ष तक डॉ. रश्मिकांत के यहां पुलकित का उपचार चलता रहा, लेकिन वह पूरी तरह से ठीक नहीं हो सका। पहली बार ऑपरेशन होने के बाद चार वर्ष तक पुलकित ठीक नहीं हो सका, तो चिकित्सक ने 23 जुलाई 2000 को फिर से ऑपरेशन करने की सलाह दी, जिस पर परिवादी विपिन कुमार बेहद उत्तेजित हो गया और चिकित्सक पर आरोप लगाया कि उपचार में लापरवाही की गयी है। इसके बाद परिवादी विपिन कुमार ने 15 फरवरी 2001 को अपने अधिवक्ता के माध्यम से डॉ. रश्मिकांत को क्षतिपूर्ति का नोटिस भेजा, जिस पर डॉ. रश्मिकांत ने क्षतिपूर्ति देने से इंकार कर दिया, इसके बाद परिवादी विपिन कुमार ने डा. रश्मिकांत के विरूद्ध 20 मार्च 2001 को उपभोक्ता फोरम में परिवाद दायर कर दिया। डॉ. रश्मिकांत के अलावा ऑरियंटल इंश्योरेंस कम्पनी के मंडलीय कार्यालय कोर्ट रोड मुजफ्फरनगर के प्रबंधक को भी नोटिस दिया गया। परिवाद लगातार उपभोक्ता फोरम में चलता रहा। चिकित्सक पर ऑपरेशन व उपचार में लापरवाही का आरोप लगाते हुए अनेक साक्ष्य उपभोक्ता फोरम में विपिन कुमार द्वारा प्रस्तुत किये गये, लेकिन डा. रश्मिकांत की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता सुभाष भारद्वाज ने जोरदार पैरवी की और अपनी दलीलों से उपभोक्ता फोरम में मजबूती से केस लड़ा। जिला उपभोक्ता विवाद प्रतितोष फोरम, मुजफ्फरनगर के अध्यक्ष लुकमानुहक व महिला सदस्य श्रीमती बबीता देवी ने दोनों पक्षों के वकीलों की बहस व साक्ष्यों पर गौर करने के बाद यह निर्णय सुनाया कि परिवादी के पुत्र पुलकित के ऑपरेशन में कोई लापरवाही नहीं की गयी, ऐसी स्थिति में बीमा कम्पनी से भी कोई क्लेम नहीं मिल सकता और डा. रश्मिकांत द्वारा भी पुलकित के ऑपरेशन में कोई लापरवाही नहीं बरती गयी और सही उपचार किया गया है। फोरम ने परिवाद को सव्यय निरस्त कर दिया है।

Share it
Top