एसएसपी ने अफवाह फैलाने वालों व शरारती तत्वों को दी कड़ी चेतावनी, बख्शेंगे नहीं

एसएसपी ने अफवाह फैलाने वालों व शरारती तत्वों को दी कड़ी चेतावनी, बख्शेंगे नहीं

शाहपुर। राम जन्मभूमि पर उच्चतम न्यायालय का निर्णय शीघ्र घोषित होने के मद्देनजर एसएसपी अभिषेक यादव ने क्षेत्रा के गांव बसीकलां के प्राइमरी स्कूल में बसीकलां, पलड़ी व पलड़ा के ग्रामीणों की बैठक कर माननीय उच्चतम न्यायालय का निर्णय का पालन करने का अनुरोध किया साथ ही चेतावनी दी कि कोई भी शरारती तत्व फेसबुक व वाहट्सप पर किसी प्रकार की विवादित टिप्पणी ना करें व ना ही गलत मेसेज को फारवर्ड करें, गलत मेसेज की। सूचना तुरंत पुलिस प्रशासन को दे कोई भी व्यक्ति इस काम मे लिप्त पाया गया, तो उसके विरुद्ध कठोर कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि घर के जिम्मेदार लोग अपने बच्चों को समझाए जरा सी नादानी उनका भविष्य खराब कर देगी । सीओ बुढ़ाना विजयप्रकाश ने भी न्यायालय के फैसले का सम्मान करने की अपील की। थाना प्रभारी धर्मेंद्र सिंह ने क्षेत्र से आये लोगों की ओर से एसएसपी को आश्वाशन दिया कि इस क्षेत्र की जनता आपसी सोहाद्र व भाईचारा बनाये रखने में हमेशा अग्रणीय रही है आगे भी सौहार्द बनाये रखने में पूरा सहयोग करेगी उपस्थित लोगों ने हाथ उठाकर एसएसपी को पूरा सहयोग देने का वादा किया। इस दौरान शाहनवाज अंसारी, याकूब प्रधान, अकील खान प्रधान, हाजी मुर्सलीन, गुलजार खान, ब्रजपाल सैनी, संजय सैनी, मोनू सैनी, इरशाद उर्फ नाटा, महबूब, कुलदीप, हरबीर, बिजेंद्र आदि मौजूद रहे।

बसीकलां है चर्चित गांव: शाहपुर। आज की बैठक पश्चात लोगो मे आम चर्चा रही कि 2013 के दंगे की शुरुआत 7 सितम्बर 2013 को नगला मंदौड़ गांव में सचिन व उसके भाई की हत्या के विरोध में आहूत पंचायत में जाते हुए ग्रामीणों पर कुछ असामाजिक तत्वों ने इसी बसी गांव में हमला कर दंगे की शुरआत की थी, उसके बाद पूरे प्रदेश में दंगे भड़क गये थे, जिसमें अनेक निर्दोष लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी थी।

Share it
Top