बघरा ब्लॉक के ग्रामीणों ने किया सिसौली तहसील में जाने से इंकार ...... कलेक्ट्रेट में विरोध स्वरूप ग्राम प्रधानों ने धरना देकर मुख्यमंत्री के नाम दिया ज्ञापन

बघरा ब्लॉक के ग्रामीणों ने किया सिसौली तहसील में जाने से इंकार  ......  कलेक्ट्रेट में विरोध स्वरूप ग्राम प्रधानों ने धरना देकर मुख्यमंत्री के नाम दिया ज्ञापन

मुजफ्फरनगर। सिसौली में नई तहसील स्थापित करने के प्रस्ताव को लेकर आये दिन होने वाले विवाद में एक और विवाद जुड़ गया है। बघरा ब्लॉक के ग्राम प्रधानों, ग्रामीणों ने ब्लॉक के गांवों को सिसौली तहसील में प्रस्तावित करने को लेकर कड़ा एतरात व्यक्त किया है और सदर तहसील में ही शामिल रखने की मांग की है। इन लोगों ने प्रस्ताव के विरोध में शुक्रवार को कलेक्ट्रेट पहुंचकर जिलाधिकारी कार्यालय पर धरना दिया और मुख्यमंत्री को ज्ञापन भी प्रशासन को दिया। शासन ने जनपद में सिसौली को तहसील बनाने की घोषणा की है। इसके लिए जनपद में एक विवाद छिड़ गया है। इसके विरोध में बुढ़ाना तहसील में अधिवक्ता हड़ताल पर अभी तक हैंं। ऐसे में अब बघरा ब्लॉक के ग्रामों गुज्जरहेडी, जसोई, खतौला, तितावी, नसीरपुर, बरवाला, माण्डी, लडवा, नूनाखेडा, ढिंढावली, कबीरपुर आदि के लोगों के साथ ही ग्राम प्रधानों ने भी बघरा ब्लॉक को सिसौली तहसील में सम्मिलित किये जाने के प्रस्ताव का विरोध किया है। इस निर्णय को अव्यवहारिक बताया गया है। ग्राम प्रधानों के साथ ग्रामीणों ने कलेक्ट्रेट में डीएम कार्यालय के समक्ष धरना दिया। इस दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नाम एक ज्ञापन प्रशासन को दिया गया। इसमें ग्राम प्रधानों ने कहा कि बघरा ब्लॉक के ग्रामों का सदर तहसील क्षेत्र में ही बना रहना ज्यादा हित में है। सिसौली तहसील में इस ब्लॉक के गांवों को शामिल करने से कोई लाभ नहीं होगा। इससे बहुत बड़ी हानि हो जायेगी और बघरा ब्लॉक के ग्रामों के ग्रामीणों को काफी बड़ी परेशानी का सामना करना पड़ेगा। सदर तहसील बघरा ब्लॉक के ग्रामों से अधिकांश 7-8 किलोमीटर पर है, जबकि सिसौली तहसील करीब 25 किलोमीटर पर पड़ेगी और आवागमन का भी बेहतर रास्ता नहीं होने के कारण अन्य समस्याएं भी उत्पन्न होंगी। इससे समय और पैसे की बर्बादी होगी। उन्होंने कहा कि बघरा ब्लॉक क्षेत्र में करीब 48 ग्राम आतेे हैं और यदि इनको सिसौली तहसील में लाया गया, तो ग्रामीणों को बड़ी परेशानी का सामना करना पड़ेगा। ग्रामीणों ने मुख्यमंत्राी से उदारतापूर्वक निर्णय करने का आग्रह किया है। ज्ञापन देने वालों में मुख्य रूप से ग्राम प्रधान सतेन्द्र बालियान, आफताब, हरेन्द्र सिंह, यूसुफ, याकूब, हरपाल सिंह, मौ. इदरीश, सहदेव सिंह, बुल्ली, राजेन्द्र आर्य, जमशेद, अरशद चौधरी, सुरेन्द्र सिंह, पूर्व प्रधान फिरोजुदीन, मास्टर करम इलाही, ऋषिपाल, भोपाल सिंह, नाहर सिंह, अनिल कुमार, यूनुस, नूर हसन आदि शामिल रहे।

Share it
Top