किसान नेता चौ. जगवीर सिंह हत्याकांड में इंस्पेक्टर से बचाव पक्ष की जिरह पूरी

किसान नेता चौ. जगवीर सिंह हत्याकांड में इंस्पेक्टर से बचाव पक्ष की जिरह पूरी

मुजफ्फरनगर। राष्ट्रीय किसान मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष चौ. जगवीर सिंह हत्याकांड में आज इंस्पेक्टर से बचाव पक्ष की जिरह पूरी हो गयी है। कोर्ट ने सुनवाई 14 नवम्बर तक के लिए स्थगित कर दी है। इस हत्याकांड में आरोपी भाकियू अध्यक्ष चौ. नरेश टिकैत आज कोर्ट में पेश नहीं हुए। छह सितम्बर 2003 को थाना भौराकलां क्षेत्र के गांव अलावलपुर माजरा मेें चौ. जगवीर सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी। यह मामला राष्ट्रीय स्तर पर काफी दिनों तक चर्चाओं में रहा। जानकारी के अनुसार भौराकलां थाना क्षेत्र के गांव अलावलपुर माजरा में छह सितम्बर 2003 की शाम को राष्ट्रीय किसान मोर्चा के अध्यक्ष चौ. जगवीर सिंह की गोलियों से भूनकर हत्या कर दी गयी थी। इस मामले में चौ. जगवीर सिंह के पुत्र योगराज सिंह ने भाकियू नेता चौ. नरेश टिकैत समेत तीन को नामजद करते हुए मामला दर्ज कराया गया था। कोर्ट में आज इस मामले में जांच अधिकारी इंस्पेक्टर प्रमोद कुमार पंवार से बचाव पक्ष की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता अनिल जिंदल ने जिरह की और बयान पूरे होने के बाद कोर्ट ने सुनवाई 14 नवम्बर तक के लिए स्थगित कर दी है। इस मामले की सुनवाई एडीजे-9 राध्ेश्याम यादव की कोर्ट में चल रही है। इस मामले में ही आरोपी भाकियू अध्यक्ष चौ. नरेश टिकैत आज कोर्ट में पेश नहीं हुए। उनकी तरफ से हाजिरी माफी की अर्जी कोर्ट में दाखिल की गयी। उल्लेखनीय है कि छह सितम्बर 2003 को किसान नेता जगवीर सिंह की गांव अलावलपुर में गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी। मृत के बेटे व पूर्व मंत्राी योगराज सिंह ने भाकियू नेता नरेश टिकैत सहित तीन को नामजद किया था। सुनवाई के चलते दो आरोपियों की मौत हो चुुकी है, जबकि चौ. नरेश टिकैत के विरूद्ध कोर्ट में सुनवाई चल रही है।

Share it
Top