पूजा-अर्चना के साथ हुआ टिकौली चीनी मिल का पैराई सत्रा शुभारम्भ

मीरापुर। टिकौला चीनी मिल का पेराई सत्रा पूजा अर्चना के साथ शुरू कर दिया गया। इस अवसर पर पहली बार गन्ना लाये किसान का भी सम्मान किया गया। मिल के अधिशासी अध्यक्ष एमसी शर्मा ने बताया कि पूर्व वर्षो की भांति पेराई सत्रा का शुभारम्भ करने के लिये विधिवत हवन पूजन किया गया। स्वामी ओमानन्द जी के शिष्य पं. उपरेती महाराज ने मन्त्रोच्चार के साथ हवन पूजन कराया। मुख्य अतिथि स्वामी ओमान्नद जी महाराज, संत रामचरण दास जी महाराज व अधिशासी अध्यक्ष एमसी. शर्मा ने मिल की चौन में गन्ना डालकर पेराई सत्र का शुभारम्भ किया। एमसी शर्मा ने बताया कि किसानो के लिये मिल की पेराई क्षमता को बढा दिया गया है। उन्होंने किसानों से मिल में साफ-सुथरा जड, पत्ती व मिट्टी रहित गन्ने की आपूर्ति की अपील की। स्वामी ओमानन्द जी महाराज ने कहा कि क्षेत्र के किसानो की आर्थिक उन्नती में चीनी मिल का महत्वपूर्ण योगदान है। उन्होने पेराई सत्र में किसानो से पूर्ण सहयोग की अपील की। इस अवसर पर अधिशासी उपाध्यक्ष तकनीकी राजबीर सिंह, महाप्रबन्धक गन्ना ऋषिराज शर्मा, पवन जैनर, के.जे. शर्मा, एन.के. जैन आदि मौजूद रहे।

मिल अधिकारियों, कर्मचारियों व किसानों ने आहुति दे किया सत्रा प्रारम्भ: खतौली। एशिया की बडी मिलों में शुमार त्रिवेणी चीनी मिल के नये पैराई सत्र का बुधवार को कैन यार्ड में आयोजित हवन यज्ञ के पश्चात शुभारम्भ हो गया। हवन यज्ञ में चीनी मिल के आला अधिकारियों, कर्मचारियों के अलावा क्षे0 किसानों ने आहुतियां देकर पैराई सत्र के सुचारू रूप से चलने की मंगल कामनाये की। मिल उपाध्यक्ष शुगर डॉ. अशोक कुमार ने कहा नये पैराई सत्र को सुचारू रूप से चलाने के लिये मिल प्रबन्धतन्त्र को क्षे0 किसानों का सहयोग अपेक्षित है। किसानों का हित मिल की प्राथमिकता में है। कोई भी समस्या आने पर किसान मिल के सक्षम अधिकारी से सम्पर्क करें। मिल को पूरी क्षमता से चलाकर लक्ष्य से अधिक रिकार्ड गन्ने की पैराई की जायेगी। पर्ची व भुगतान की समस्या किसानों के आड़े नही आने दी जायेगी। उपाध्यक्ष शुगर डॉ. अशोक कुमार ने नये सत्र में चीनी मिल द्वारा 24 घण्टे निर्बाध रूप से गन्ने की पैराई जारी रखने के लिये किसानों से मिल प्रबंधतंत्र का सहयोग करने का आव्हान किया। पण्डित सुधीर कुमार ने धार्मिक अनुष्ठान संपन्न कराये। हवन यज्ञ में उपाध्यक्ष डॉ. अशोक कुमार, एके सिंह, ओपी मिश्रा, कुलदीप राठी, पीके खंडेलवाल, सुशान्त ठाकुर आदि मिल अधिकारियों के अलावा कर्मचारियों व किसानों ने आहुतियां दी। तत्पश्चात कैन यार्ड में सर्वप्रथम भैंसा बुग्गी से गन्ना लाने वाले किसानों सन्तरपाल, घनश्याम निवासी गांव पिपलेहडा व ट्रैक्टर ट्रॉली से गन्ना लाने वाले किसानों रामसिंह व मन्नू निवासी गाँव तिसँग को उपाध्यक्ष डॉ. अशोक कुमार ने तिलक लगाने के साथ ही शॉल औढ़ाकर सम्मानित किया। चीनी मिल ने पैराई सत्र के पहले दिन दो लाख कुन्तल गन्ने का इडेन्ट जारी किया। जिसके बाद किसानों के गन्ना लेकर मिल का रुख करते ही त्रिवेणी शुगर मिल की चिमनियों ने धुँआ उगलना शुरू कर दिया।

Share it
Top