परमधाम न्यास प्रमुख के खिलाफ प्रदर्शन, ज्ञापन सौंपा....संघ ने दी चेतावनी कि यदि कार्यवाही नहीं की गयी तो होगा उग्र आंदोलन

परमधाम न्यास प्रमुख के खिलाफ प्रदर्शन, ज्ञापन सौंपा....संघ ने दी चेतावनी कि यदि कार्यवाही नहीं की गयी तो होगा उग्र आंदोलन

मुजफ्फरनगर। परमधाम न्यास प्रमुख के खिलाफ आज बुधवार को भारतीय किसान संघ के बैनर तले लोगों ने कलेक्ट्रेट पहुंचकर प्रदर्शन करते हुए लोगों का शारीरिक, मानसिक और आर्थिक शोषण करने के आरोप लगाते हुए जांच कराये जाने की मांग की है। इसको लेकर जिलाधिकारी के नाम एक ज्ञापन भी सौंपा गया। जांच नहीं कराये जाने पर आंदोलन की चेतावनी दी गयी है, बुधवार को भारतीय किसान संघ के जिला अध्यक्ष भंवरपाल शास्त्री के नेतृत्व में कलेक्ट्रेट पहुंचे लोगों ने डीएम कार्यालय के समक्ष प्रदर्शन करते हुए परमधाम न्यास के वलीदपुर दौराला मेरठ के प्रमुख संचालक चन्द्रमोहन महाराज पर कई गंभीर आरोप लगाये। भारतीय किसान संघ की ओर से जिलाधिकारी के नाम एक ज्ञापन एडीएम प्रशासन अमित सिंह को सौंपा गया। इसमें कहा गया कि परमधाम संचालक चन्द्रमोहन महाराज के द्वारा क्षेत्र की भोली भाली जनता के साथ शारीरिक, मानसिक और आर्थिक शोषण किया जा रहा है। उनके काले कारनामों की जांच करायी जानी आवश्यक है। उन्होंने कहा कि जिन लोगों ने चन्द्रमोहन के खिलाफ आवाज उठायी, उनको झूठे मुकदमों में फंसाया जा रहा है। संघ ने ऐसे लोगों पर दर्ज मुकदमों को वापस लेने की मांग की है। उन्होंने कहा कि थाना शहर कोतवाली में आठ युवकों के खिलाफ तथा थाना तितावी में एक युवक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया है। वहीं थाना नई मण्डी में पांच युवकों और थना दौराला जनपद मेरठ में छह युवकों तथा थाना धनोरा जिला अमरोहा में दो युवकों के विरुद्ध मुकदमा कायम कराये गये हैं। अन्य अनेक लोगों को नोटिस भिजवाये गये हैं। संघ नेताओं ने ज्ञापन में कहा कि चन्द्रमोहन महाराज के खिलाफ थाना भोपा में मुकदमा अपराध संख्या 317 सन् 2005 धारा 302, 307 आईपीसी कायम है, जो आज भी न्यायालय में विचाराधीन है। चन्द्रमोहन के अलावा कुलदीप सिंह, सरिता देवी तथा अलका देवी पर थाना राजपुर जनपद देहरादन में बलात्कार का मुकदमा दर्ज किया गया है। भारतीय किसान संघ ने चन्द्रमोहन महाराज के सभी आश्रमों और प्रमुख लोागें की उच्च स्तरीय जांच कराकर दोषियों के खिलाफ सख्त कानूनी कार्यवाही करने की मांग की है। संघ ने चेतावनी दी है कि यदि कार्यवाही नहीं की गयी तो चन्द्रमोहन महाराज के खिलाफ उग्र आंदोलन किया जायेगा, प्रदर्शन करने वालों में मुख्य रूप से भंवरपाल शास्त्री, अशोक पुण्डीर, राजेन्द्र कुमार शर्मा, संजू, शुभम, सुनील, अशोक, नीरज, बन्टी, राजीव, तरूण अजय, जयवीर सिंह, सुक्रमपाल सिंह आदि शामिल रहे।

Share it
Top