भैयादूज पर ट्रेनों में रही यात्रियों की भीड़ ....स्टेशन परिसर सहित टिकटघर व आरक्षण केंद्र पर भी रहा भारी जनसैलाब

मुजफ्फरनगर। पंचोत्सव अर्थात दीपों के पांच पर्वों की अंतिम कड़ी के रूप में भैयादूज का पर्व धूमधाम के साथ आज मनाया गया। इस मौके पर सभी ने अलग-अलग साधनों का उपयोग किया। एक ओर जहां प्राईवेट सहित निगम की बसों में अपार भीड़ नजर आयी। वहीं दूसरी ओर ट्रेनों में भी अपार भीड़ नजर आयी। स्थिति यह थी कि ट्रेनों में पैर रखने तक की जगह नहीं मिल पा रही थी। वहीं टिकटघर पर भी टिकट लेने को लेकर लंबी-लंबी लाइनें नजर आयीं। जिस पर व्यवस्था बनाने को लेकर जीआरपी व आरपीएफ की मदद ली गयी। इसके साथ ही आरक्षण केंद्र पर भी भारी भीड़ नजर आयी। जैसा कि अनुमान लगाया जा रहा था, वैसा ही हुआ। भैयादूज के मौके पर ट्रेनों में भारी भीड़ नजर आयी। ट्रेनों में स्थिति यह रही कि लोगों को बैठने की जगह मिलना तो दूर की बात, उन्हें खड़े होने के लिए भी स्थान कम पड़ गया। वहीं टिकट घर पर भी स्थिति बड़ी ही विकट नजर आयी। कई बार तो यात्रियों में बहसबाजी भी होती नजर आयी। व्यवस्था बनाने को लेकर जीआरपी व आरपीएपफ की मदद भी ली गयी। वहीं इस बारे में जीआरपी थाना प्रभारी एमआर कर्दम का कहना था कि स्टेशन परिसर सहित ट्रेनों में स्टाफ की ड्यूटी लगायी गयी। ताकि यात्रियों को किसी प्रकार की अपने गंतव्य तक जाने में परेशानी का सामना न करना पड़े। साथ ही यात्रियों से यात्रा के दौरान सावधानी बरतने की भी अपील की गयी। वहीं आरपीएफ का कहना था कि यात्रियों की सुरक्षा ही उनका मुख्य उद्देश्य है। इसी के चलते सुरक्षा व्यवस्था कड़ी की गयी थी। यात्रियों को ट्रेनों की विलंबता से भी परेशानी का सामना करना पड़ा। वहीं एक यात्राी संजय कुमार का कहना था कि क्या करेें भीड़ में जाना मजबूरी है, जिनके पास अपने साधन हैं, वह तो जा सकते हैं, लेकिन हम जैसों के पास अपने वाहन न होने के चलते बस व ट्रेनें ही हमारे आवागमन के मुख्य साधन हैं। बस में किराया महंगा होने के चलते ट्रेनों का ही सहारा लेना पड़ता है। वहीं दूसरी ओर छठ पर्व समीप होने के कारण आरक्षण केंद्र पर भी यात्रियों की भारी भीड़ नजर आयी।

Share it
Top