अधिकारियों के पहुंचने से पहले ही भाग खडे हुए शिकारी

अधिकारियों के पहुंचने से पहले ही भाग खडे हुए शिकारी

मोरना। सैंचुरी क्षेत्र में धडल्ले से मछली व अन्य जलीय जन्तुओं का शिकार कर रहे शिकारी अधिकारियों की टीम के पहुंचते ही भाग खडे हुए अधिकारियों ने जांच कर कार्रवाई करने की बात कही है। हस्तिनापुर सेंचुरी क्षेत्र में गंगा व सहायक नदी सोलानी नदी में बडे पैमाने पर मछली व अन्य जलीय जन्तुओं के धडल्ले से शिकार होने व जलीय जन्तुओं के दूसरे प्रदेशों में स्मगलिंग होने का समाचार प्रकाशित होने पर जागे मत्स्य विभाग के अधिकारी कछुआ चाल से सोलानी नदी के तट पर पहुंचे तथा ग्रामीणों से जानकारी ली, जहां ग्रामीणों ने मत्स्य विभाग के अधिकारियों को बताया कि पुरकाजी क्षेत्र के माफिया बडे स्तर पर मछली सहित अन्य जानवरों का धडल्ले से शिकार कर रहे हैं। मत्स्य विभाग के अधिकारी आनन्द कुमार व पवन कुमार ने बताया कि सहायक निदेशक के आदेश पर टीम ने मौके पर आकर जांच की है। जिसकी रिपोर्ट प्रस्तुत की जायेगी। उसमें उपरान्त ही कोई कार्रवाई की जाएगी। धडल्ले से होता है सैंचुरी क्षेत्र में शिकार: हस्तिनापुर सैंचुरी क्षेत्र में शिकारियों द्वारा जानवरों का शिकार करना आम बात है। गंगा व सोलानी नदी में बडे माफिया जलीय जन्तुओं का खुलेआम शिकार करते हैं। गंगा खादर में शिकार होने की शिकायत अक्बसर उच्च अधिकारियों से की जाती है, किन्तु सांठगांठ होने के कारण माफ़ीयाओं पर कोई कार्रवाई नहीं की जाती है। समाचार के प्रकाशित होने पर कार्रवाई के नाम पर प्रशासन खानापूर्ति कर देता है। सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार पुरकाजी क्षेत्र के माफियाओं द्वारा खादर क्षेत्र में धडल्ले से शिकार किया जा रहा है। किन्तु कुम्भकर्णी नींद सोया प्रशासन कार्रवाई के नाम पर आंख मूंदे हुए है।

Share it
Top