पांच लाख की कुश्ती रही भारतीय पहलवान मौसम खत्राी के नाम....ईरान के पहलवान को दी करारी मात, एक लाख की रही बराबर, चार लाख की कुश्ती अमित प्रमुख के एक लाख अपने ओर से देने पर हुई पांच लाख की

मुजफ्फरनगर। सोमवार को गांव पचैंडा में शहीद बचन सिंह व स्व. अरूण पहलवान अखाड़ा सेवा समिति एवं अखिल भारतीय कुश्ती महासंघ (भारत सरकार) की ओर से आयोजित किये जा रहे 32वें विशाल दंगल व रागिनी कम्पीटीशन का नजारा कुछ अलग था। जनता इंटर कालेज का मैदान एक लाख व पांच लाख की कुश्ती देखने को भरा पड़ा था। देशी व विदेशी पहलवान की चार लाख की कुश्ती उस समय ओैर अधिक रोचक हो गयी, जब मुख्य अतिथि के द्वारा अपनी ओर से एक लाख के इनाम की घोषणा कर दी गयी। वहीं दूसरी ओर शहीद बचन सिंह व स्व. अरूण पहलवान अखाडा सेवा समिति तथा युधिष्ठिर कुश्ती अखाड़े की महिला पहलवानों ने हरियाणा की पहलवानों को ध्ूल चटा दी। गांव पचैंडा में शहीद बचन सिंह व स्व. अरूण पहलवान अखाड़ा सेवा समिति एवं अखिल भारतीय कुश्ती महासंघ (भारत सरकार) की ओर से आयोजित किया जा रहा 32वां विशाल दंगल व रागिनी कम्पीटीशन का आयोजन 20 अक्टूबर से 23 अक्टूबर तक किया जाएगा। इस विशाल दंगल एवं रागिनी कम्पीटीशन की आज की मुख्य बात यह थी कि इसमें ईरान के जाने-माने पहलवान अली पहलवान एवं हरियाणा के मौसम खत्राी भारत केसरी पहलवान के बीच चार लाख की कुश्ती थी। इसके साथ ही एक लाख की कुश्ती का भी फाइनल था। यह चार लाख की कुश्ती उस समय और अधिक रोचक हो गयी, जब मुख्य अतिथि अमित प्रमुख के द्वारा जीतने वाले पहलवान को चार लाख के अतिरिक्त अपनी ओर से एक लाख के इनाम देने की घोषणा कर दी गयी। इसके बाद यह चार से बढ़कर पांच लाख की हो गयी। इस कुश्ती को देखने के लिए आसपास सहित अन्य क्षेत्रों से आये लोगों के द्वारा पूरा कालेज का मैदान भर दिया गया। यह कुश्ती 21 मिनट की थी, जिसे भारतीय पहलवान हरियाणा के मौसम खत्री के द्वारा मात्रा 14 मिनट में ही ईरान के पहलवान अली को ध्ूल चटाते हुए अपने नाम कर लिया गया। इसके अलावा एक लाख की कुश्ती का फाइनल भी बड़ा ही रोचक रहा। इसमें मुकाबला युधिष्ठिर पहलवान के शिष्य संदीप पोसवाल व औली माजरा के पहलवान उमेश के बीच था। जो बराबरी पर छूटा। अतिरिक्त समय भी दिया गया, लेकिन परिणाम बराबर रहा। इसके अलावा अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भारत का कुश्ती में नाम कर चुकी पुरबालियान की बेटी दिव्या काकरान के छोटे भाई दीपक काकरान की कुश्ती थी, जिसे दीपक के द्वारा अपने नाम किया गया। उसने यह 5100 रूपये की कुश्ती जीती। इस मौके पर उपस्थित होने वाले मुख्य अतिथि में सुभाष पहलवान, विनोद पहलवान लच्छेडा, गजेंद्र कोच दौराला, अनुज बढ़ेड़ी व अमित प्रमुख रहे। इसके अतिरिक्त बिट्टू कोच, युधिष्ठिर पहलवान, डा. मोनिका, जितेंद्र कोच आदि उपस्थित रहे।

Share it
Top