कडी सुरक्षा में हुआ अधिवक्ता समीर सैफी का शव सुपुर्देखाक...चार दिन पहले लापता होने के बाद बीती रात मिला था शव

मुजफ्फरनगर। शहर कोतवाली क्षेत्र के मौहल्ला लद्दावाला से 15 अक्टूबर को लापता हुए युवा अध्विक्ता की हत्या उसके चार दोस्तों ने ही पैसों के लेन-देन को लेकर की है। पुलिस ने बीतीरात भोपा क्षेत्र के अन्तर्गत गांव सीकरी के जंगल से शव बरामद कर लिया था। पोस्टमार्टम के बाद आज कडी सुरक्षा में शव को सरवट के कब्रिस्तान में सुपुर्देखाक किया गया। जानकारी के अनुसार शहर कोतवाली क्षेत्र के मौहल्ला लद्दावाला निवासी 28 वर्षीय समीर सैफी एडवोकेट पुत्रा अजहर सैफी विगत 15 अक्टूबर को शाम करीब सात बजे अपने घर से दोस्तों से मिलने के लिए गया था, लेकिन देररात तक भी वापस घर नहीं लौटा, तो परिजनों ने पुलिस को सूचना दी, जिस पर पुलिस ने तहरीर के आधर पर गुमशुदगी दर्ज कर ली थी, इसके बाद जिला बार संघ व सिविल बार एसोसिएशन ने भी अधिवक्ता समीर सैफी के परिजनों के साथ एसएसपी अभिषेक यादव से मुलाकात कर समीर सैफी की बरामदगी की मांग की थी। पुलिस लगातार भागदौड कर रही थी। शक के आधार पर समीर के चार दोस्तों को हिरासत में लिया गया और कडी पूछताछ की गयी। पूछताछ में उसके दोस्तों ने बताया कि समीर पर उनके रूपये थे, जिन्हें मांगने पर वह वापस नहीं कर रहा था और इसी विवाद में रस्सी से गला घोंटकर उसकी हत्या कर दी थी तथा शव को कार में ले जाकर जंगल में फेंंक दिया था। पुलिस ने समीर के दोस्तों को ले जाकर सीकरी के जंगल से शव को बरामद कर लिया था और पोस्टमार्टम के बाद शव को आज कडी सुरक्षा में सरवट कब्रिस्तान में सुपुर्देखाक कर दिया। इस मामले में रात्रि के समय शहर कोतवाली में काफी हंगामा हुआ था। आज रात से ही लद्दावाला क्षेत्र में कडी सुरक्षा रही। पुलिस ने समीर के चारों दोस्तों को जेल भेजने की तैयारी कर ली है। इस घटना से मृतक के परिजनों में कोहराम मचा हुआ है। लद्दावाला क्षेत्र में तनाव की स्थिति बनी हुई है।

Share it
Top