दो करोड़ दस लाख रुपये हड़पने वाले महिला सहित सात आरोपियो के विरुद्ध मुकदमा दर्ज

दो करोड़ दस लाख रुपये हड़पने वाले महिला सहित सात आरोपियो के विरुद्ध  मुकदमा दर्ज

चरथावल। न्यायालय के आदेश पर अमानत में ख्यानत व जान से मारने की धमकी देकर हथियारों के बल पर आतंकित कर तीस लाख रुपये लूटने का आरोप लगाते हुए पीडित ने महिला सहित सात लोगों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कराया है। जनपद गाजियाबाद थाना सिहानी गेट मौहल्ला नूरगिरवां निवासी विपुल त्यागी ने बताया कि वह मैसर्स विपुल इन्टर प्राईजेज का प्रोपराईटर है। न्यायालय में प्रार्थना पत्र देते हुए आरोप लगाया कि उसने सरकार से विगत 30 अक्टूबर 2018 को एक एग्रीमेंट ग्राम जरर थाना गिरवां की खदान से खनन कार्य करने के लिए पांच साल के लिए भूमि पट्टा लिए हुआ है, जिसके लिए पीडि़त ने विकास कुमार, मोनिका पत्नि विकास निवासी आवास विकास कालोनी मुजफ्फरनगर, राविन पुत्र सोहेन्द्र मुजफ्फरनगर, शौकीन आलम पुत्र हुसैन आलम निवासी सिसौली, कपिल कुमार पुत्र चन्द्रबोस, नफीस व राबिन बालियान निवासी सिसौली थाना भौराकलां मुजफ्फरनगर को खदान कार्य में सहयोग के लिए रखा हुआ था, जबकि अमरदीप पुत्र सुनील त्यागी निवासी गादला व दीपक पुत्र मांगेराम को बतौर कैशियर तथा चंदन पुत्र अशोक झा जोकि सुपरवाइजर के रूप में पैसो के लेन देन, रखरखाव व हिसाब किताब आदि के कार्य के लिए नियत था, जो खदान में रहकर काम देख रहे थे। नियत कर्मियों द्वारा ठेके की किस्त सरकार को देने के लिए एक करोड अस्सी लाख छप्पन हजार दो सौ दस रूपये एकत्र किया हुआ था। उस रूपये को मोनिका व उसके पति विकास कुमार, रोबिन द्वारा अपने बांदा आवास में किश्त जमा करने के समय तक के लिए सुरक्षित रखे रहने के लिए कहकर मेरे कर्मचारी अमरदीप आदि से ले जाकर अमानत के रूप में अपने पास रख लिए थे, क्योंकि जनवरी 2019 में दो करोड़ चौसठ लाख रूपये सरकारी किश्त के रूप में जमा करने थे, लेकिन पैसे इकठ्ठा न हो पाने से समय अवधि के अन्दर किश्त जमा नहीं हो पायी। आरोप है कि इसी बीच मोनिका, विकास व रोबिन की नियत खराब हो गयी और पैसा देने में आनाकानी करने लगे। जनवरी 2019 में विकास कुमार, रोबिन, शौकीन अपने साथियों कपिल कुमार, नफीस राबिन बालियान के साथ ग्राम जरर थाना गिरवां में स्थित पीडित की खदान पर आये और अमरदीप व दीपक त्यागी से खदान में इकठठा हुए उस दिन तक के पैसे की मांग की, जिस पर दीपक ने कहा कि हम यह पैसा एवं जो आपके पास किश्त जमा करने हेतु एक करोड़ अस्सी लाख छप्पन हजार दो सौ दस रूपये को मिलाकर किश्त जमा करने हेतु चल रहे है, तभी विकास कुमार ने असलाह निकाल कर धमकी दी कि किश्त बाद में जमा होगी तुम पैसा हमें दो नहीं, तो गोली मार देगें और धमकी देते हुए इकठ्ठा हुई तीस लाख रूपये मारपीट कर छीन लिये और कार्यवाही करने पर जान से मारने की धमकी दी। इसकी सूचना अमरदीप ने फोन के माध्यम से पीडित को दी, जब मैने विकास आदि को ऐसा करने से मना किया, तो आरोपितों ने मुझे गाली-गलौच करते हुए मेरे परिवार को को गोली से भून डालने की धमकी दी। आरोपितों ने विश्वासघात करके छलकपट के इरादे से सुरक्षित रखने को कहकर ली गयी। किश्त की रकम को हडप कर एवं जबरदस्ती छीनकर ले गये है। वहीं सभी आरोपित दबंग किस्म के है और बीबी बच्चों सहित मुझे व मेरे परिवार को रूपये वापिस मांगने पर जान से मारने की धमकी दे रहे है। पीडित ने गाजियाबाद न्यायालय की शरण लेकर आरोपितों के विरु( कार्रवाई व अपने रूपये वापस करने की गुहार लगयी है। न्यायालय के आदेश पर जनपद बाँदा थाना गिरवां में मुकदमा दर्ज कर जांच उपनिरीक्षक रवींद्र सिंह को सौंपी गई है।

Share it
Top