मुज़फ्फरनगर: पचैंडा की धरती पर उतरा कुश्ती का सितारा दिव्या सेन...सभी पहलवानों को दिये अंतर्राष्ट्रीय पहलवान ने कुश्ती का टिप्स

मुजफ्फरनगर। कुश्ती के अखाड़े में बड़ों मंचों पर देशी सहित विदेश पहलवानों को मात देकर देश का नाम रोशन करने वाली जनपद लोनी/ पुरबालियान की लाडली दिव्या सेन आज गांव पचैंडा कलां की धरती पर आयीं। यहां पर उनके द्वारा अपने उपर बन रही एक डाक्यूमेंट्री की शूटिंग के साथ ही साथ सभी छोटे बड़े पहलवानों को अपने अनुभव से अभिभूत किया गया, साथ ही अखाड़े के संस्थापक युधिष्ठिर पहलवान की जमकर तारीफ की। दिव्या के द्वारा इसी अखाड़े पर कुश्ती की एबीसीडी सीखी गयी। इसके साथ ही उनके द्वारा अपने इस क्षेत्र में आने को लेकर भी अनुभव साझा किये गये। अंतर्राष्ट्रीय मंच पर भारत का प्रतिनिधित्व कर जनपद, माता-पिता सहित देश का नाम रोशन करने वाली दिव्या सेन/काकरान किसी परिचय की मोहताज नहीं हेैं। आज यह भारत का अंतर्राष्ट्रीय सितारा गांव पचैंडा की सरजमीं युधिष्ठिर कुश्ती अखाड़े में आया। यहां पर वह अपने उफपर बन रही एक डाक्यूमेट्री की शूटिंग करने आयीं थीं। उनके साथ उनके प्रशिक्षक/भाई देव काकरान सहित उनके पिता व गुरू सूरजवीर भी आये। यह पर दैनिक रॉयल बुलेटिन से वार्ता करते हुए दिव्या सेन ने कहा कि उनका लक्ष्य अब आलंपिक है। वह पहले प्रयास में भले ही असफल हो गयी हों, लेकिन आगे होने वाले दूसरे ट्रायल में वह अपना चयन अवश्य कराएंगी। इस मौके पर उन्होंने बताया कि उनका मन पढ़ाई में नहीं लगता था। इसके चलते वह लोनी गोल चक्कर के पास स्थित उनके मकान के निकट बने अखाड़े में चली जाती थीं। जिसके बाद वह गुरूदेव मान अखाड़े में चली गयीं। कुश्ती को लेकर जहंा उनके माता-पिता ने साथ दिया, वहीं दूसरी ओर उनके दादा सहित रिश्तेदारों के द्वारा विरोध भी किया गया। उनका पैतृक गांव थाना मंसूरपुर क्षेत्रांतर्गत आने वाला गांव पुरबालियान है। वह वर्तमान में रेलवे में टिकट निरीक्षक के पद पर तैनात हैं। युधिष्ठिर कुश्ती अखाड़े के सभी छोटे बड़े पहलवानों को इस मौके पर वह अपने अनुभव रूपी टिप्स देने से नहीं चूकीं। उन्होंने कहा कि इस अखाड़े के संस्थापक युधिष्ठिर पहलवान के द्वारा जो सुविधा यहां के पहलवानों को कम उम्र में दी गयी है। वह उन्हें अब जाकर मिली है। इसके लिए वह बधाई के पात्र हैं। उन्होंने भी अपनी प्रारंभिक कुश्ती की एबीसीडी यहीं से सीखी है। वह चौधरी चरण सिंह यूनिवर्सिटी से बीपीईएस कर रही हैं।

Share it
Top