जिला पंचायत सदस्यों ने तालाबंदी कर किया प्रदर्शन ...भाकियू के जिलाध्यक्ष के विरूद्ध की कार्यवाही की मांग

मुजफ्फरनगर। जिला पंचायत में कर्मचारी के साथ भारतीय किसान यूनियन के जिलाध्यक्ष द्वारा कथित मारपीट व धमकी देने के मामले में बुधवार को कर्मचारी एकजुट हो गये। कर्मचारियों ने जिला पंचायत कार्यालय में तालाबंदी करते हुए प्रदर्शन किया और भाकियू जिलाध्यक्ष के खिलाफ कार्यवाही की मांग की गयी। बुधवार को जब जिला पंचायत के चौ. चरण सिंह सभागार में किसान दिवस का आयोजन किया जा रहा था, उसी दौरान जिला पंचायत कार्यालय में कर्मचारी भारतीय किसान यूनियन के जिलाध्यक्ष के खिलाफ नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन पर उतरे हुए थे। इन कर्मचारियों ने विरोध स्वरूप जिला पंचायत में हड़ताल करते हुए कार्यालयों में तालाबंदी कर दी। कर्मचारियों ने भाकियू जिलाध्यक्ष के प्रति गहरा रोष प्रकट किया। जिला पंचायत के कर विभाग के लिपिक ऐजाज अहमद ने जिला पंचायत अध्यक्ष के नाम भी पत्र लिखा है। जिसमें बताया गया कि 15 अक्टूबर को वह अपने पटल पर कार्य कर रहा था, इसी बीच करीब डेढ़ बजे जिला पंचायत अध्यक्ष कार्यालय में महिला सदस्यों के पति धीरज लाटियान, अवनीश कुमार व संजय राठी के द्वारा अनुचर से उनको बुलाया गया। वहां पर अध्यक्ष के पति अर्जुन तोमर व अभियंता भी मौजूद थे। धीरज लाटियान भाकियू के जिलाध्यक्ष भी हैं। ऐजाज ने बताया कि धीरज लाटियान ने उनसे अरविन्द कुमार अवर अभियंता का मोबाइल नम्बर मांगा, उनके फोन में जो नम्बर फीड था, वह उनको बता दिया गया। नम्बर डायल करने पर वह नहीं मिला, तो उन्होंने किसी अन्य से अवर अभियंता का नम्बर लिया। इसके बाद धीरज लाटियान ने ऐजाज पर आरोप लगाया कि जानबूझकर गलत नम्बर दिया गया है। आरोप है कि धीरज लाटियान ने सभी के सामने अपशब्द कहे और कार्यालय नहीं आने की धमकी भी दी। वहां उपस्थित अर्जुन तोमर अध्यक्ष पति ने बीच बचाव कराकर ऐजाज को वापस भेज दिया। लिपिक ऐजाज के साथ ही इस घटना से जिला पंचायत के कर्मचारियों में रोष बना हुआ है। आज जिला पंचायत के सभी कर्मचारियों ने काम से हड़ताल करते हुए कार्यालयों में तालाबंदी कर प्रदर्शन किया। इन कर्मचारियों ने भाकियू जिलाध्यक्ष के खिलाफ कार्यवाही की मांग की है।

Share it
Top