होमगार्डों का छलका दर्द, हाथों में कटोरा लेकर मांगी भीख...ड्यूटी नहीं मिलने तक किया अनिश्चितकालीन धरने का ऐलान

होमगार्डों का छलका दर्द, हाथों में कटोरा लेकर मांगी भीख...ड्यूटी नहीं मिलने तक किया अनिश्चितकालीन धरने का ऐलान

मुजफ्फरनगर। प्रदेश की योगी सरकार के द्वारा होमगार्डों को दिवाली का कभी न भूलने वाले एक ऐसा तोहफा दिया है। वह तोहफा है कई हजार को घर बैठाने का। इसके चलते आज जनपद में तैनात होमगार्डों का दर्द छलका उठा औेर उनके द्वारा हाथों में कटोरा लेकर शिवचौक पर भीख मांगकर व अपने पास से एकत्र किये गये 575 रूपये मुख्यमंत्री कोष में दिये गये। इसके साथ ही कलेक्ट्रेट परिसर में धरना-प्रदर्शन किया गया। जिसके बाद जिला प्रशासन के माध्यम से प्रदेश के मुख्यमंत्री के नाम एक ज्ञापन दिया गया। होमगार्डों के द्वारा ऐलान किया गया कि जब तक ड्यूटी नहीं दी जाती, उनका धरना-प्रदर्शन जारी रहेगा।

उत्तर प्रदेश में सरकार के द्वारा दिये गये एक ही झटके में 25 हजार होमगार्ड बेरोजगार हो गए हैं। जिसके चलते पुलिस विभाग ने बजट का हवाला देते हुए 25 हजार होमगार्ड जवानों की ड्यूटी समाप्त करने का निर्णय लिया है। जिसमें यूपी के जनपद मु. नगर से भी भारी संख्या में होमगार्डों की ड्यूटी समाप्त कर दी गई है।

जिससे क्षुब्ध होकर जनपद भर के होमगार्डों में भारी रोष पनप गया और उन्होंने अपना दुखड़ा मुख्यमंत्री को सुनाये जाने के लिए हाथों में कटोरा लिए जिला कलेक्ट्रेट उप्र होमगाड्र्स अवैतनिक अधिकारी व कर्मचारी एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष देवेंद्र सिंह पंवार के नेतृत्व में पहुंचकर जिलाधिकारी के माध्यम से मुख्यमंत्री के नाम एक ज्ञापन देने सहित धरना-प्रदर्शन किया। इस धरना-प्रदर्शन पर भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता चौधरी राकेश टिकैत भी अपने पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं के साथ पहुंचे और धरनारत होमगार्डों को आश्वासन दिया की उनके साथ यूनियन कंधे से कन्धा मिलाकर खड़ी है। जहां भी यूनियन की जरूरत पड़े तुरन्त बताए, हम सब आप के साथ है।

इससे पहले समस्त होमगार्डों ने नगर के शिवचौेक पर हाथों में कटोरा लेकर भीख मांगी। इसके अलावा अपने पास से भी रूपये एकत्र किये। बताया कि यह भीख का पैसा मुख्यमंत्री कोष में जमा कराया जाएगा, क्योंकि राज्य सरकार बेहद गरीब हो चुकी है। देवेंद्र सिंह पंवार का कहना था कि इस निर्णय से जनपद के लगभग छह सौ से अधिक अपने घर पर बेरोजगार हो बैठ गये हैं। बताया कि जनपद में लगभग 1200 के करीब होमगाड्र्स के जवान व अधिकारी हैं। इसें 1100 के करीब जवान, 30 के लगभग प्लाटून कमांडर तथा एक दर्जन के करीब कंपनी कमांडर हैं। इसमें से 580 जवान, 15 के करीब प्लाटून कमांडर तथा आधा दर्जन के करीब कंपनी कमांडर की सेवा समाप्त कर दी गयी पुलिस विभाग से। उन्होंने मांग की कि उन्हें 12 महीने तनख्वाह दी जाए तथा सुप्रीम कोर्ट का आदेश लागू किया जाए।

उनके द्वारा भीख मांग कर व अपने पास से एकत्र कुल 575 रूपये प्रशासन को दिये गये। धरना-प्रदर्शन करने वालों में देवेंद्र सिंह पंवार, विपिन कुमार, सुनील कुमार, सोहनदास, मनोज कुमार, सतीश कुमार, विरेंद्र कुमार, रविंद्र कुमार, सतीश कुमार, मांगेराम, यशवीर, लवकुश, राजेश, लालसिंह, शिव कुमार, श्रीकृष्ण, देवेंद्र, पवन, सोनू, विकास, प्रवीण कुमार, संजीव, राजीव, रहीस, अलीजान, जितेंद्र, राजेंद्र, नवाब सिंह, रीटा रानी, सुषमा शर्मा, उर्मिला, बिमला, शशिबाला, विजयमाला, ओमवती व वेदपाल आदि शामिल रहे।

Share it
Top