सभासद व पालिका कर्मचारी के बीच कहासुनी होने पर दावत हुई अखाडे में तब्दील, हंगामा

खतौली। मेला श्रावणी छडिय़ान के अवसर पर नगर पालिका परिषद द्वारा गुरुवार रात को आयोजित रांगनी कार्यक्रम के संयोजक सभासद के यहाँ चल रही दावत एक पालिका कर्मचारी व सभासद के बीच वाकयुद्ध के बाद अखाड़े में तब्दील हो गयी। अपने साथी कर्मचारी के लहूलुहान होने से आक्रोशित पालिका कर्मचारियों ने आरोपियों की गिरफ्तारी न होने पर आन्दोलन करने की चेतावनी दी है। रागनी के संयोजक सभासद धनपाल सिंह के गुर्जर कॉलोनी स्थित आवास पर कार्यक्रम शुरू होने से पहले दावत चल रही थी। दावत में पालिका कर्मचारी चन्की भारद्वाज पुत्र प्रदीप की सभासद फैय्याज अंसारी के साथ कहासुनी हो गयी। आरोप है कि सभासद फैय्याज अंसारी व इसकी हिमायत में आये सभासद धनपाल के पुत्र राजीव खारी ने मारपीट कर चन्की भारद्वाज को घायल कर दिया। चन्की भारद्वाज के साथ मारपीट की खबर लगते ही पालिका कर्मचारियों में रोष फैल गया। बड़ी संख्या में पालिका कर्मचारी थाने में एकत्रित हो गये। घायल कर्मचारी चन्की भारद्वाज ने दावत के दौरान सभासद फैय्याज अन्सारी व सभासद पुत्र राजीव खारी पर अकारण मारपीट कर घायल करने का आरोप लगा थाने में तहरीर देकर कार्यवाही की मांग पुलिस से की। दूसरी ओर नगर पालिका कर्मचारी संघ अध्यक्ष महेन्द्र ने पालिकाकर्मी चन्की भारद्वाज के साथ मारपीट करने के आरोपियों के विरुद्ध कार्यवाही न होने पर आन्दोलन करने की चेतावनी दी है। उल्लेखनीय है कि बीते दिनों हुए कव्वाली मुकाबले के बाद से पालिका कर्मचारी चन्की भारद्वाज का सभासद फैय्याज अंसारी के साथ छत्तीस का आंकड़ा चल रहा है। कव्वाली मुकाबले के संयोजक सभासद फैयाज़ अंसारी ने कार्यक्रम प्रभारी चन्की भारद्वाज पर बोर्ड द्वारा स्वीकृत 35 हज़ार की राशि देने में आनाकानी करने का आरोप लगा इसकी शिकायत जिलाधिकारी से करके आत्मदाह करने की चेतावनी दी थी। शिकायत पर जांच चलने के चलते चन्की भारद्वाज व फैय्याज अंसारी के बीच टशन चल रही है। कई दिनों से दोनों के बीच पक रहा फोड़ा रांगनी की दावत के दौरान फूट गया। इसके अलावा चर्चा है कि रांगनी दावत के दौरान पालिक कर्मचारी व सभासद के बीच हुई मारपीट बोर्ड सभासदों के बीच चल रही खेमेबाज़ी का भी नतीजा है। चन्की भारद्वाज की हिमायत में देर रात तक थाने पर डटे पालिका कर्मचारियों को सीओ आशीष कुमार सिंह व कोतवाल संतोष कुमार त्यागी ने समझा बुझाकर शान्त किया।

Share it
Top