भाजपा जिलाध्यक्ष व विधायक के हस्तक्षेप से रतनपुरी पुलिस का गुडवर्क बना बैडवर्क

भाजपा जिलाध्यक्ष व विधायक के हस्तक्षेप से रतनपुरी पुलिस का गुडवर्क बना बैडवर्क

खतौली। भाजपा विधायक उमेश मलिक व जिलाध्यक्ष सुधीर सैनी के हस्तक्षेप से रतनपुरी पुलिस का सोमवार को किया गया गुडवर्क बुधवार आते आते बैडवर्क में तब्दील हो गया। बीते रविवार को हाइवे पर हुए कार लूट प्रकरण में मामला सन्दिग्ध बताकर कार मालिक व इसके परिचित को जेल भेजकर अपनी पीठ थपथपाने वाली रतनपुरी पुलिस को फजीहत होने पर आनन-फानन मुकदमा स्पंज कर दोनों को जेल से छुड़वाना पड़ा। शहादरा दिल्ली निवासी सन्दीप प्रजापति कार बुकिंग पर चलाता है। बीते शनिवार को सन्दीप की कार दिल्ली निवासी राकेश व अमित हरिद्वार लेकर गये थे। रविवार प्रात वापसी में हाइवे स्थित रतनपुरी थानां क्षेत्र के गांव रायपुर नगली के सामने सन्दीप से राकेश व अमित कार छीनकर फरार हो गये थे। सन्दीप द्वारा थाने पहुँचकर सूचना देने पर रतनपुरी पुलिस ने मामला सन्दिग्ध बताकर कार बुलन्दशहर से बरामद करने के बाद झूठी सूचना देकर पुलिस को गुमराह करने के आरोप में मुकदमा दर्ज कर सन्दीप के अलावा इसके एक परिचित युवक जगदीश को जेल भेज दिया था। सन्दीप व जगदीश को निर्दोष जेल भेजने का आरोप लगा परिजनों ने रतनपुरी थाने पर हंगामा शुरू कर दिया था। जेल भेजे गये युवकों के परिजनों द्वारा रतनपुरी पुलिस के कारनामे से अवगत कराये जाने पर विधायक उमेश मलिक के साथ भाजपा जिलाध्यक्ष सुधीर सैनी ने रतनपुरी थाने पहुँचकर इंस्पेक्टर एमपी सिंह की क्लास लगा ली थी। विधायक उमेश मलिक व जिलाध्यक्ष सुधीर सैनी के हस्तक्षेप से पफजीहत बढ़ती देख रतनपुरी पुलिस ने सन्दीप व जगदीश के विरुद्ध लिखे मुकदमे को स्पंज कर, इन्हें आनन फानन जेल से रिहा कराया। बाद में पीडि़त सन्दीप की तहरीर पर पुलिस ने कार छीनकर पफरार हुए युवकों राकेश व अमित के विरुद्ध नया मुकदमा दर्ज कर लिया। बताया गया कार लूट के एक अन्य प्रकरण में दिल्ली पुलिस ने राकेश और अमित को गिरफ्तार लर लिया है।

Share it
Top