बिजलीघर पर मजदूर की मौत को लेकर भाकियू तोमर ने दिया धरना

बिजलीघर पर मजदूर की मौत को लेकर भाकियू तोमर ने दिया धरना

मोरना। गत बुधवार को खुजेडा निवासी मजदूर 50 वर्षीय नूर हसन की मौत ककरौली स्थित विद्युत उपकेन्द्र पर हो गयी थी। आरोप है कि विद्युत बिल बढकर आ जाने से पुलिस कार्रवाई से डरकर दिल का दौरा पड जाने के कारण मजदूर की मौत हो गयी थी। अनियमित विद्युत बिल भेजने तथा मजदूर की शिकायत पर कान न धर मुकदमा दर्ज करने की धमकी देने वाले कर्मचारियों पर कार्रवाई की मांग तथा मृतक के आश्रित को मुआवजा देने की मांग को लेकर भाकियू के तोमर गुट ने ककरौली विद्युत उपकेन्द्र पर धरना देकर नारेबाजी की। इस दौरान हजारों ग्रामीण उपस्थित रहे।

भाकियू तोमर गुट के जिलाध्यक्ष अखिलेश चौधरी ने धरने पर सम्बोधित करते हुए कहा कि नूर हसन की जान बढे हुए बिल के कारण गयी है। एक ओर प्रशासन बडी घटनाओं में भी मुकदमे दर्ज नहीं करता किन्तु छोटी सी रकम के लिए नागरिकों पर मुकदमे किये जा रहे हैं। जुर्माना वसूल करने के बाद भी उपभोक्ता को कार्यालयों के चक्कर काटने पडते हैं। उपभोक्ताओं पर मुकदमेबाजी का चक्कर समाप्त किया जाये। विद्युत विभाग केवल लापरवाह कर्मचारियों पर भी कार्रवाई करे जो मीटर रीडिंग में गडबड कर बिल बढाकर भेज रहे हैं। लो वोल्टेज होने पर भी उपभोक्ता को दोगुना तक यूनिट का भुगतान करना पड रहा है, जिसे भाकियू तोमर बर्दाश्त नहीं करेगी। सरकार किसानों व मजदूरों को 200 यूनिट प्रतिमाह मुत बिजली उपलब्ध कराये। मृतक नूरहसन के आश्रितों को मुआवजा दिया जाये। वहीं धरने के दौरान उपकेन्द्र पर तैनात अवर अभियन्ता मंगतराम, क्षेत्राधिकारी भोपा राममोहन शर्मा, थाना प्रभारी निरीक्षक विजय बहादुर सिंह ने मृतक के आश्रितों को नकद सहायता दी। इस अवसर पर समर सिंह, राजकुमार, पवन त्यागी, अजय त्यागी, पिन्टू त्यागी, प्रदीप वर्मा, राजू त्यागी, आशीष शर्मा, रामसिंह गौतम, शहजाद, सुलेमान प्रधान, सतीश चेयरमैन, शकील अहमद, अनुज, अनेक पाल, उग्रसैन, धर्मेन्द्र आदि उपस्थित रहे।

Share it
Top