जनपद मुजफ्फरनगर में आयोजित की गई राष्ट्रीय लोक अदालत

जनपद मुजफ्फरनगर में आयोजित की गई राष्ट्रीय लोक अदालत

मुजफ्फरनगर। राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण नई दिल्ली व राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण लखनऊ के अनुसार जनपद न्यायाधीश संजय कुमार पचौरी अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के कुशल निर्देशन में राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया गया। जिसमें कापफी संख्या में अधिवक्तागण, वादकारीगण व न्यायिक अधिकारीगण, बैंक व बीमा कम्पनी अधिकारी द्वारा सक्रियता से भागीदारी की गयी। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण मु.नगर के सचिव निशान्त देव (सि.जज वरिष्ठ प्रभाग) द्वारा यह बताया गया कि इस राष्ट्रीय लोक अदालत में जिला न्यायालय मु.नगर के 2920 मुकदमें निस्तारित कर 875320 (आठ लाख पिच्छतर हजार तीन सौ बीस रू) अर्थदण्ड वसूल किया गया। इस लोक अदालत में मोटर दुर्घटना से सम्बन्घित 26 वादों का सुलह-समझौते के आधार पर निस्तारण कर पक्षकारों को 11535800 (एक करोड पन्द्रह लाख पैंतीस हजार आठ सौ रू) प्रतिकर के रूप में दिलाये गये। कुटुम्ब न्यायालय द्वारा निस्तारित कुल 35 वादों में से 02 विवाहित जोड़ों को समझौते के आधार पर घर साथ-साथ भेजा गया।जिलाधिकारी मु.नगर के द्वारा तथा अपर जिलाधिकारी/एसडीएम तथा विभिन्न तहसीलों के द्वारा 4789 मुकदमों का निस्तारण किया गया। इस राष्ट्रीय लोक अदालत में विभिन्न बैंकों एवं भारत संचार निगम लिमिटेड के द्वारा भागिता की गयी। बैकों द्वारा 295 बैंक ऋण मामले निस्तारण कराके कुल 54151317 रू (पांच करोड इक्तालीस लाख इक्यावन हजार तीन सौ सतरह रूपये) आपसी सुलह-समझौते के आधार पर निस्तारण कराके प्राप्त किये। इस राष्ट्रीय लोक अदालत के कुशल समापन पर नोडल अधिकारी ओमवीर सिंह अपर जिला जज द्वारा सभी उपस्थित अधिकारीण व कर्मचारीगण का आभार व्यक्त किया गया। इस प्रकार राष्ट्रीय लोक अदालत में कुल 8004 मामलों का निस्तारण किया गया।

Share it
Top