बाढ आने से पूर्व की सभी तैयारियां पूर्ण कर ली जाये: एडीएम एफ ....बाढ से बचाव के लिए आम जन को पीपीटी के माध्यम से प्रचार प्रसार कर जागरूक किया जाये: एसपी देहात

बाढ आने से पूर्व की सभी तैयारियां पूर्ण कर ली जाये: एडीएम एफ ....बाढ से बचाव के लिए आम जन को पीपीटी के माध्यम से प्रचार प्रसार कर जागरूक किया जाये: एसपी देहात

मुजफ्फरनगर। अपर जिलाधिकारी आलोक कुमार ने कहा कि गर्मी के मौसम व वर्षा ऋतु में हर वर्ष बहुत से क्षेत्रा बाढ एवं जलप्लावन से प्रभावित होते हैं, जिससे फसलों के साथ-साथ सम्पत्ति की भी गम्भीर क्षति होती है। उन्होंने कहा कि यह आवश्यक है कि पिछले वर्षों के अनुभव के आधार पर सूखा, आंधी, तूफान व बाढ़ जैसी देवी आपदा तथा उससे उत्पन्न स्थिति का सामना करने के लिए पहले से ही तैयारी कर ली जाये। उन्होंने कहा कि आपदा आने की स्थिति में जन एवं धन की हानि कम से कम हो और पीडित व्यक्तियों को अविलम्ब राहत पहुंचायी जा सके। उन्होंने कहा कि किसी क्षेत्रा को औपचारिक रूप से बाढ ग्रस्त घोषित नहीं किया जाता है, परन्तु अपेक्षा यह होती है कि आपदा आने पर जिला प्रशासन द्वारा तत्काल बचाव एवं राहत कार्य आरम्भ कर दिया जाये। अपर जिलाधिकारी आलोक कुमार आज कलक्टृटे सभागार में बाढ़ आदि आपदाओं की तैयारियों के सम्बन्ध में सम्बन्धित विभागों के साथ आवश्यक बैठक कर रहे थे। अपर जिलाधिकारी ने अधिकारियों केा निर्देश दिये कि आपदा से सम्बन्धित स्थिति की पिछले वर्षों की कार्ययोजना देख ली जाये। उन्होंने सिंचाई विभाग को निर्देश दिये कि गत वर्षों में जहां-जहां आपदा/बाढ़ आयी है, वहां का भ्रमण कर लिया जाये और वहां के नाले व पुल आदि का कार्य पूर्ण कराया जाये। उन्होंने कहा कि बाढ़ चौकियों व केन्द्रों की स्थापना की जाये। उन्होंने निर्देश दिये कि सिंचाई विभाग सूचना के आदान प्रदान के लिए अपना अलग से एक डाटा बैंक तैयार करें, जिसमें सम्भावित ग्रामों के ग्राम प्रधान, ग्राम सचिव वहां के गणमान्य लोग, लेखपाल, तहसीलदार व एसडीएम के नम्बर हो, जिससे कि तत्काल पानी के बढने की स्थिति में सम्भावित ग्रामों/क्षेत्रों मेें समय रहते सूचना दी जा सके और जान व माल की हानि से बचा जा सके। उन्होंने कहा कि बाढ सम्भावित क्षेत्रों में विद्युत विभाग व सिंचाई विभाग संयुक्त रूप से निरीक्षण करे लें और यह सुनिश्चित करे कि बाढ आने पर तत्काल कार्यवाही की जा सके। उन्होंने एसडीएम को निर्देश दिये कि सम्भावित बाढ प्रभावित क्षेत्रों व पिछले वर्ष आयी बाढ से प्रभावित क्षेत्रों का भ्रमण कर ले और बाढ चौकी व केन्द्रों की स्थापना के लिए स्थान चिन्हित कर लें। उन्होंने निर्देश दिये कि जानवरों के लिए भूसा आदि की व्यवस्था सुनिश्चित कर ली जाये। अपर जिलाधिकारी ने स्वास्थ्य विभाग को निर्देश दिये कि सम्भावित क्षेत्रों में दवाईयों व एम्बुलेंस की उपलब्धता सुनिश्चित की जाये। उन्होंने कहा कि अभी से सभी तैयारियां पूर्ण कर ली जाये। उन्होंने कहा कि बाढ आने के बाद क्या-क्या सावधानियां बरती जाये इसका एक एक्शन प्लान बनाकर अपने पास रखे। उन्होंने कहा कि नाव व बोट की पर्याप्त मात्रा सुनिश्चित की जाये। पुलिस अधीक्षक देहात आलोक शर्मा ने निर्देश दिये कि बाढ सम्भावित गांवों में पीपीटी के माध्यम से जन जागरूकता अभियान चलाया जाये। उन्होंने कहा कि बाढ सम्भावित क्षेत्रों में विद्युत विभाग व सिंचाई विभाग व अन्य अधिकारीगण संयुक्त रूप से निरीक्षण करे लें और यह सुनिश्चित करे कि बाढ आने पर तत्काल कार्यवाही की जा सके। उन्होंने एसडीएम को निर्देश दिये कि सम्भावित बाढ प्रभावित क्षेत्रों व पिछले वर्ष आयी बाढ से प्रभावित क्षेत्रों का भ्रमण कर ले और बाढ चौकी व केन्द्रों की स्थापना के लिए स्थान चिन्हित कर ले। उन्होंने निर्देश दिये कि जानवरों के लिए भूसा आदि की व्यवस्था सुनिश्चित कर ली जाये। अपर जिलाधिकारी ने स्वास्थ्य विभाग को निर्देश दिये कि सम्भावित क्षेत्रों में दवाईयों व एम्बुलेंस की उपलब्धता सुनिश्चित की जाये। उन्होंने कहा कि अभी से सभी तैयारियां पूर्ण कर ली जाये। उन्होंने कहा कि बाढ आने के बाद क्या-क्या सावधानियां बरती जाये इसका एक एक्शन प्लान बनाकर अपने पास रखे। उन्होंने कहा कि नाव व बोट की पर्याप्त मात्रा सुनिश्चित की जाये। बैठक में अपर जिलाधिकारी वि/रा आलोक कुमार, एसपी देहात आलोक शर्मा, एसडीएम व सम्बन्धित विभागों के अधिकारीगण उपस्थित थे।

Share it
Top