'लापरवाह अधिकारियों को निलम्बन के साथ जेल भेजा जायेगा'.... नोडल अधिकारी के भ्रमण से पूर्व सभी व्यवस्थाए सुनिश्चत कर ले अधिकारी: अर्चना वर्मा

लापरवाह अधिकारियों को निलम्बन के साथ जेल भेजा जायेगा.... नोडल अधिकारी के भ्रमण से पूर्व सभी व्यवस्थाए सुनिश्चत कर ले अधिकारी: अर्चना वर्मा

मुजफ्फरनगर। प्रभारी जिलाधिकारी/ मुख्य विकास अधिकारी अर्चना वर्मा ने आज कलैक्ट्रेट सभागार में नोडल अधिकारी के प्रस्तावित भ्रमण के दृष्टिगत जनपद में चल रही योजनाओं के सम्बन्ध में विकास प्राथमिकता कार्यक्रमों की समीक्षा करते हुए अधिकारियों को निर्देश दिये कि किसी भी प्रकार की लापरवाही एवं उदासीनता क्षम्य नहीं होगी और लापरवाही पाये जाने पर सम्बन्धित के खिलाफ कडी कार्यवाही अमल में लायी जायेगी। सभी विभाग अपने-अपने कार्यों की दैनिक मॉनीटरिंग/समीक्षा करें। प्रभारी जिलाधिकारी ने अपर मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देश दिये कि चिकित्सों की सीएचसी व पीएचसी पर उपस्थिति सुनिश्चित कराई जाये। प्रभारी जिलाधिकारी ने उपस्थित बीडीओ को कडे निर्देश दिये कि कार्यों में किसी प्रकार की शिथिलता बर्दाश्त नहीं की जायेगी। उन्होंने कहा कि कार्यों में लापरवाही पर निलम्बित कर सीधे जेल भेजा जायेगा उन्होंने निर्देश दिये कि आचार संहिता समाप्त होने के बाद तालाबों की खुदाई मनरेगा के अन्तर्गत कराया जाना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि कार्य में ढील मिली, तो जिम्मेदारी तय की जायेगी। उन्होंने बीडीओ को निर्देश दिये कि मासिक, पाक्षिक, साप्ताहिक व दैनिक लक्ष्य निर्धारित कर कार्य करे। उन्होंने कहा कि लक्ष्य पूर्ण न होने व कार्य में लापरवाही पर बीडीओ निलम्बित होंगे। उन्होंने निर्देश दिये कि निर्माण कार्यो की गुणवत्ता से कोई समझौता नहीं किया जायेगा। उन्होंने कहा कि निर्माण कार्यों की जांच कराई जायेगी। अगर कोई अनियमिता मिलती है, तो नोडल अधिकारी द्वारा तत्काल कडी कार्यवाही अमल में लाई जायेगी। उन्होंने उपस्थित सभी अधिकारियों केा स्पष्ट संदेश देते हुए कहा कि गौ आश्रय स्थलों का निरीक्षण कर रिपोर्ट प्रस्तुत करें। उन्होंने कहा कि कोई भी आवार पशु घूमता हुआ नहीं मिलना चाहिए। उन्हें आश्रय स्थलों में रखा जाये। उन्होंने बीडीओं को निर्देश दिये कि अपने-अपने एसडीएम से समन्व्य बनाकर रखे यह उनके हित में होगा। उन्होंने कहा कि अगर कोई शिकायत मिली तो सम्बन्धित बीडीओ अपने निलम्बन की तैयारी कर ले। उन्होंने कहा कि नोडल अधिकारी द्वारा गौवंश आश्रय स्थलों, समाज कल्याण की योजनाओं, पेयजल योजनाओं, पीएम किसान सम्मान निधि, गन्ना भुगतान, पीएम आवास, स्वच्छ भारत मिशन, आयुष्मान योजना के सम्बन्ध में गहन समीक्षा की जायेगी, इसलिए सम्बन्धित अधिकारी पूर्ण सूचनाओं सहित तैयार रहे। प्रभारी जिलाधिकारी ने सभी एसडीएम व बीडीओ से कहा कि अपनी-अपनी तहसील को सापफ स्वच्छ करा ले। नोडल अधिकारी का औचक निरीक्षण किसी भी तहसील व ब्लॉक में हो सकता है। उन्होंने कहा कि निरीक्षण में कमी रहने पर सम्बन्धित पर कडी कार्यवाही होगी। उन्होंने कहा कि कार्यालयों की साफ सफाई, रंगाई पुताई समय रहते करा ली जाये। उन्होंने निर्देश दिये कि आईजीआरएस पोर्टल पर शिकायतों के निस्तारण को प्राथमिकता दी जाये। उन्होंने कहा कि सभी अधिकारी केन्द्र सरकार एवं प्रदेश सरकार की संचालित सभी योजनाओं व जनपद में किये जा रहे विकास निर्माण कार्यों का निरीक्षण कर लें। बैठक अपर जिलाधिकारी आलोक कुमार, सभी एसडीएम, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी, डीडीओ, पी.डी., सभी बीडीओ सहित अन्य जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।

Share it
Top