ट्रैक ब्लॉक में निगम की बसों ने थामा मोर्चा, कटी चांदी...संबंधित मार्गों पर डिपो की ओर से की गयी अतिरिक्त बसों की व्यवस्था

ट्रैक ब्लॉक में निगम की बसों ने थामा मोर्चा, कटी चांदी...संबंधित मार्गों पर डिपो की ओर से की गयी अतिरिक्त बसों की व्यवस्था

मुजफ्फरनगर। शुक्रवार को रेलवे के चार घंटे के ट्रैक ब्लॉक के चलते एक बार फिर से निगम की बसों के द्वारा मोर्चा संभाला गया। जिसके कारण मुजफ्फरनगर रोडवेज बस स्टैंड पर यात्रियों की भारी भीड़ नजर आयी। रोडवेज प्रशासन को आज भी अतिरिक्त बसों की संबंधित मार्गों पर व्यवस्था करनी पड़ी। जिसके कारण उन्हें एक बार फिर व्यवस्था करने में पसीना बहाना पड़ा। वहीं दूसरी ओर मुजफ्फरनगर डिपो को आज लगभग दो लाख की अतिरिक्त आय हुई।

शुक्रवार को रेलवे की ओर से तय किये गये चार घंटे के ट्रैक ब्लॉक के चलते यात्रियों का सारा भार पिफर से उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम पर आ गया। जिसके चलते मुजफ्फरनगर रोडवेज डिपो पर यात्रियों का भारी भीड़ नजर आयी। यात्रियों के लिए बसों की व्यवस्था करने को लेकर एक बार फिर से डिपो के अधिकारियों व कर्मचारियों को अपना पसीना बहाना पड़ा। डिपो के सहायक क्षे0 प्रबंधक बीपी अग्रवाल से मिले आदेश के तहत डिपो के वरिष्ठ स्टेशन प्रभारी राजकुमार तोमर द्वारा सभी संबंधित मार्गों पर बसों की व्यवस्था करायी गयी।

राजकुमार तोमर का कहना था कि चार घंटे के ट्रैक ब्लॉक की जानकारी उन्हें थी। इसके चलते पहले से ही अतिरिक्त बसों की व्यवस्था संबंधित मार्गों पर कर दी गयी थी। बस स्टैंड पर आयी यात्रियों की भारी भीड़ को व्यवस्थित करने में किसी प्रकार की परेशानी उनके या उनके स्टाफ के सामने नहीं आयी। सभी चालकों व परिचालकों को निर्देशित कर दिया गया था कि भारी भीड़ को देखते हुए यात्रियों के साथ शालीनता से पेश आये।

उनका कहना था कि मुजफ्फरनगर-सहारनपुर मार्ग पर जो बसें (निगम/अनुबंधित) संचालित थीं, उनके अलावा अन्य बसों की व्यवस्था की गयी, ताकि यात्रियों को किसी प्रकार की परेशानी अपने गंतव्य तक जाने में न हो। जो बसें केवल देवबंद तक थीं, उनके फेरे भी सहारनपुर तक किये गये। इसके अलावा मुजफ्फरनगर-मेरठ तथा मुजफ्फरनगर -दिल्ली मार्ग पर भी अतिरिक्त बसों की व्यवस्था की गयी। इसके साथ ही शाम के समय हरिद्वार मार्ग पर भी अतिरिक्त बसों की व्यवस्था की गयी। उनका कहना था कि जिस भी मार्ग पर बसों की आवश्यकता महसूस की जाएगी, उस पर बस की व्यवस्था की जाएगी। यात्रियों की सुविधा ही उनका मुख्य उद्देश्य रहा है। ट्रेनों के बंद होने से निगम को आज दो लाख की अतिरिक्त आय हुई।

Share it
Top