मौसम की करवट से किसानों के चेहरे पर चिंता की लकीरें

मौसम की करवट से किसानों के चेहरे पर चिंता की लकीरें

जानसठ। क्षेत्र में रात को तेज हवा और घने बादल छा गए और सोमवार के दिन का आगाज हवाओं व बादल के साथ हुआ। मौसम में आए अचानक बदलाव ने किसानों को चिन्तित कर दिया है। रात को आकाश में बादल छाए रहे जो कभी कम तो कभी ज्यादा गहराते रहे। इन दिनों सरसों की फसल कटाई का समय है। तो वहीं गेहूं, जौं, चना आदि की फसल खेतों में पक रही है। साथ ही ऐसे में मौसम के कारण किसानों में फसलों के नुकसान की आशंका बनी हुई है। अचानक मौसम परिवर्तन से चिंतित किसानों के चेहरों पर चिंता की लकीरें साफ नजर आ सकती हैं। वहीं दूसरी ओर पीला सोना कहलाने वाले गेहूं की फसल की कटाई की भी शुरू हो चुकी है।

देर रात आई तेज हवा और फिर सुबह हल्की बूंदाबांदी से अन्नदाताओं के चेहरे पर मायूसी झलक रही थी। किसानों का कहना है कि इस समय अगर बारिश हो गई तो उनकी फसलों को भारी नुकसान हो सकता है। साथ ही आम के बागों पर भी तेज हवा, तूफान का असर पड़ सकता है, क्योंकि आम के बागों में पूरी तरीके से फूल आया हुआ है, लेकिन साथ ही साथ बारिश आम की फसल पर लाभदायक साबित हो सकती है।

Share it
Top