मुजफ्फरनगर के युवक की शामली में ले जाकर हत्या, मेरठ में पकडे गये दोनों हत्यारोपी...दोस्तों ने ही की साथी की गोली मारकर हत्या

मुजफ्फरनगर। किराये पर कार लेकर दो युवकों ने कार चालक को शामली जनपद के भैंसवाल गांव के जंगल में गोली मारकर मौत के घाट उतार दिया और कार लूटकर फरार हो गये। मेरठ पुलिस ने दोनों को चैकिंग के दौरान कार में खून लगा देखकर गिरफ्तार कर लिया और पूछताछ करने पर पूरे मामले का खुलासा हुआ। इस दुखद घटना की जानकारी मिलते ही मृतक के परिजनों में कोहराम मच गया। परिजन तत्काल मेरठ पहुंचे। पुलिस के अनुसार मृतक युवक व हत्यारोपी दोनों युवक आपस में दोस्त बताये जा रहे है और प्रेम-प्रसंग को लेकर हत्या किये जाने की बात भी सामने आयी है। हालांकि पुलिस जांच में यह बात भी सामने आयी है कि रूपये के लेनदेन को लेकर अजीम की हत्या की गई है, जबकि पुलिस को गुमराह करने के लिये दूसरी स्टोरी बताई जा रही है।

जानकारी के अनुसार थाना सिविल लाईन क्षेत्र के अंतर्गत सरकूलर रोड स्थित आवास विकास कालोनी में कांशीराम आवासीय कालोनी निवासी अजीम पुत्र नईम की कार को आवास विकास कालोनी निवासी शिवम व उसका साथी आरव राजपूत किराये पर लेकर गये थे। दोनों युवकों ने शामली जाने की बात कही थी और देर सायं तक वापसी लौटने की बात भी तय हुई थी। रात्रि लगभग 12 बजे तक जब दोनों युवक वापस नहीं आये, तो कार चालक के परिजनों ने उनके घर पर जाकर जानकारी की, जिस पर पता चला कि उनके मोबाईल स्विच ऑफ आ रहे है। किसी अनहोनी की आशंका से दोनों युवकों के परिजन व कार चालक के परिजन उनकी तलाश में भागदौड करने लगे। इसी बीच आज सुबह लगभग 9 बजे मेरठ के सदर बाजार कोतवाली प्रभारी विजय गुप्ता का फोन मृतक कार चालक अजीम के पिता नईम के पास आया और उन्हें तुरन्त मेरठ के सदर बाजार थाने पहुंचने को कहा। पुलिस का फोन आते ही उनके किसी अनहोनी की आशंका से हाथ-पांव फूल गये और तत्काल वे मेरठ रवाना हुए। इसी बीच शिवम व आरव के परिजनों को भी पुलिस ने मेरठ बुला लिया। सदर बाजार थानाध्यक्ष विजय गुप्ता ने बताया कि मेरठ में कैन्ट रेलवे स्टेशन के पास चैकिंग अभियान के दौरान स्विफ्ट डिजायर कार संख्या यूपी12एजे-7447 को रोका गया, तो कार में एक सीट पर खून के छीेंटे देखे गये, जिस कारण दोनों युवकों को हिरासत में लेकर कार को थाने लाया गया और उक्त दोनों युवकों से पूछताछ की गई। पूछताछ में शिवम व आरव ने पुलिस को बताया कि कार चालक अजीम की उन्होंने शामली जनपद के भैंसवाल गांव के जंगल में ले जाकर रात के समय गोली मारकर हत्या कर दी थी और शव को कार से फेंककर वे मेरठ भाग आये थे। संदिग्ध अवस्था में घूमती कार को पुलिस ने पकड लिया और पूरे मामले का खुलासा कर दिया। पूछताछ में दोनों युवकों ने पुलिस को बताया कि प्रेम-प्रसंग के चलते अजीम की हत्या की गई है। पुलिस ने अभी इससे ज्यादा जानकारी देने से इंकार कर दिया। सदर बाजार कोतवाली पुलिस ने दोनों आरोपियों को दबोचने के बाद थाना सिविल लाईन पुलिस व शामली की गढीपुख्ता पुलिस को भी इस बारे में जानकारी दे दी। गढीपुख्ता पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया। थाना सिविल लाईन पुलिस की एक टीम भी मेरठ के सदर बाजार थाने पहुंची और दोनों हत्यारोपियों को अपनी कस्टडी में लेकर मुजफ्फरनगर आने की तैयारी कर दी। इस संबंध में पुलिस जांच के बाद यह बात सामने आयी है कि अजीम, शिवम व आरव आपस में दोस्त थे और पिछले दिनों शिवम ने अजीम से 40 हजार रूपये उधार लिये थे। कई बार मांगने के बावजूद पैसे वापस नहीं किये गये। अगले महीने अजीम की शादी होनी थी और अब वह पैसे वापस लेने के लिये शिवम पर दबाव बना रहा था। मूलरूप से खालापार निवासी अजीम पिछले लगभग डेढ वर्ष से कांशीराम आवासीय कालोनी में रह रहा था। बताया जा रहा है कि 40 हजार रूपये की रकम वापस न करने के मकसद से ही अजीम की उसके दोनों दोस्तों ने हत्या की है, जबकि पुलिस को प्रेम-प्रसंग में हत्या किये जाने की बात कहकर गुमराह किया जा रहा है।

Share it
Top