पीनना में किसानों ने दो बसों को बनाया बंधक...तितावी शुगरमिल के कर्मचारियों को ले जा रही थी दोनों बस, घंटों चला हंगामा

पीनना में किसानों ने दो बसों को बनाया बंधक...तितावी शुगरमिल के कर्मचारियों को ले जा रही थी दोनों बस, घंटों चला हंगामा

मुजफ्फरनगर। किसानों की गन्ने की समस्याओं का समाधान न होने पर आज सैंकडों ग्रामीणों ने राष्ट्रीय किसान मजदूर संगठन के जिलाध्यक्ष सुमित मलिक के नेतृत्व में गांव पीनना में तितावी शुगरमिल की दो बसों सहित कर्मचारियों को बंधक बना लिया। इस दौरान घंटों तक हंगामा होता रहा। सूचना मिलने पर शहर कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंची और मिल कर्मचारियों को किसानों के बंधन से मुक्त कराकर बसों को तितावी के लिये रवाना कराया।

जानकारी के अनुसार गन्ना पैराई सत्र प्रारम्भ होने के लगभग एक माह बाद भी किसानों की गन्ने की विभिन्न समस्याओं का समाधान नहीं हो पाया है। प्रदेश के गन्ना मंत्री सुरेश राणा से लेकर गन्ना आयुक्त तक को शिकायतें भेजी गई। जिला गन्ना अधिकारी को भी किसानों ने अपनी समस्याओं से अवगत कराया, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। गन्ना किसानों की समस्याओं का समाधान न होने से किसानों व ग्रामीणों में कापफी आक्रोश बना हुआ है। आज शहर कोतवाली क्षेत्र के अंतर्गत गांव पीनना में सुबह के समय लगभग 9 बजे आईपीएल ग्रुप की तितावी शुगरमिल की दो बसों को ग्रामीणों ने रोक लिया। बस में सवार मिल के कर्मचारियों को भी बंधक बना लिया गया। किसानों व ग्रामीणों का कहना था कि तितावी शुगरमिल प्रबंध तंत्राद्वारा उनका उत्पीडन किया जा रहा है और भुगतान करने में भी देरी की जा रही है। इसके अलावा इण्डेन्ट जारी करने में भी भेदभाव बरता जा रहा है। तितावी शुगर मिल की दो बसों को कर्मचारियों सहित बंधक बनाने की सूचना पर शहर कोतवाली पुलिस गांव पीनना पहुंची। इस दौरान बस में सवार कर्मचारियों व ग्रामीणों के बीच काफी देर तक कहासुनी होती रही। शहर कोतवाल अनिल कपरवान ने गांव पीनना के ग्रामीणों को समझा-बुझाकर उनकी समस्या का समाधान कराने का आश्वासन दिया। मिल के अधिकारी भी मौके पर पहुंचे। राष्ट्रीय किसान मजदूर संगठन के जिलाध्यक्ष सुमित मलिक के नेतृत्व में तितावी शुगरमिल के कर्मचारियों को लेकर जा रही दो बसों को पीनना में सुबह लगभग 9 बजे बंधक बना लिया गया और तीन घंटे तक उन्हें बंधक बनाये रखा गया। इस घटना की जानकारी मिलने पर एसडीएम सदर, जिला गन्ना अधिकारी, नायब तहसीलदार व तितावी गन्ना मिल के डिप्टी जीएम केन विवेक कुमार भी मौके पर पहुंचे। उन्होंने ग्रामीणों व किसानों को आश्वस्त किया कि उनकी शिकायतों का त्वरित निस्तारण कर दिया जायेगा। विभिन्न समस्याओं व शिकायतों के निस्तारण का आश्वासन मिलने के बाद ही लगभग तीन घंटे बाद दोनों बसों को कर्मचारियों सहित बंधनमुक्त किया गया। पीनना गांव से बस में सवार कर्मचारी तितावी मिल पहुंचे, तब जाकर मिल प्रबंधतंत्र व कर्मचारियों ने राहत की सांस ली। " रॉयल बुलेटिन की नई एप प्ले स्टोर पर आ गयी है।royal bulletin news लिखे और नई app डाउनलोड करें

Share it
Top