खतौली पुलिस की कार्यप्रणाली से तहसील के अधिवक्ताओं में आक्रोश

खतौली पुलिस की कार्यप्रणाली से तहसील के अधिवक्ताओं में आक्रोश

खतौली। कोतवाली पुलिस की कार्यप्रणाली से आक्रोशित तहसील के अधिवक्ताओं ने शुक्रवार को एसडीएम इन्द्रकांत द्विवेदी व कोतवाल संतोष कुमार सिंह का घेराव कर जमकर हंगामा किया। एक सप्ताह पूर्व तहसील के अधिवक्ता सुभाष गुर्जर व इनके स्टाम्प विक्रेता भाई महेशपाल के साथ कस्बे के मौहल्ला देवीदास निवासी युवकों ने मारपीट की थी। आक्रोशित अधिवक्ताओं ने मारपीट करने के आरोपी युवकों को दबोचकर पुलिस को सौंप दिया था, जबकि एक आरोपी युवक मौके से फरार हो गया था। अधिवक्ता सुभाष गुर्जर ने थाने में तहरीर देकर युवकों पर मारपीट करने के अलावा 70 हजार रुपये व मोबाइल लूटने का आरोप लगाया था। अधिवक्ताओं का आरोप है कि पुलिस ने धारा 394 में एनसीआर दर्ज करके हिरासत में लिये युवकों को थाने से चलता कर दिया था। मुकदमे की तफ्रतीश कर रहे दरोगा ने लूट की धारा 394 खत्म करके मारपीट की धाराओं में चार्जशीट कोर्ट में दाखिल की है। इससे आक्रोशित तहसील बार एसोसिएशन के अध्यक्ष जगदीश आर्य के नेतृत्व में अधिवक्ताओं ने शुक्रवार को एसडीएम इन्द्रकांत द्विवेदी व कोतवाल संतोष कुमार सिंह का घेराव करके हंगामा शुरू कर दिया। देर तक चले हंगामे के बाद एसडीएम इन्द्रकांत द्विवेदी द्वारा सोमवार तक आरोपी युवकों के विरुद्ध कार्यवाही कराने का आश्वासन मिलने पर आक्रोशित अधिवक्ता शान्त हुए। तहसील बार अध्यक्ष जगदीश आर्य ने सोमवार तक आरोपी युवकों को गिरफ्तार कर जेल न भेजे जाने पर मंगलवार से कलमबंद हड़ताल प्रारम्भ करने की चेतावनी दी है। हंगामा करने वालों में योगेश खारी, सरदार जितेन्द्र सिंह, नवीन उपाध्याय, दिमाग सिंह, सचिन आर्य, नवाब सिंह, सुलेमान खान, विकास कुमार, देवेन्द्र कौशिक, कृष्ण कुमार, राजबीर, जगबीर सिंह आदि अधिवक्ता शामिल रहे। " रॉयल बुलेटिन की नई एप प्ले स्टोर पर आ गयी है।royal bulletin news लिखे और नई app डाउनलोड करें

Share it
Top