टिकटों के फर्जीवाड़े मंे फंसा परिचालक, संविदा हुई समाप्त

टिकटों के फर्जीवाड़े मंे फंसा परिचालक, संविदा हुई समाप्त

मुजफ्फरनगर। अभी हाल ही मंे अलीगढ़, आगरा व मथुरा क्षेत्रा मंे यूपीएसआरटीसी की बसों में टिकटों का फर्जीवाड़ा करने वाले गिरोह का एसटीएफ ने पर्दाफाश किया था। जिसमें दो आरएम, तीन एआरएम सहित 14 रोडवेज कर्मी निलंबित व 51 संविदा कर्मी बर्खास्त हुए थे। टिकटों का एक फर्जीवाड़ा मुजफ्फरनगर में भी एक परिचालक के द्वारा किये जाने का प्रकाश में आया है। जिसके चलते डिपो के सहायक क्षे0 प्रबंधक ने संबंधित परिचालक की संविदा समाप्त कर दी।

टिकटों में फर्जीवाड़े का एक मामला मुजफ्फरनगर डिपो में भी सामने आया। जिसे गंभीरता से लेते हुए डिपा के सहायक क्षे0 प्रबंधक बीपी अग्रवाल ने परिचालक के विरूद्ध कड़ी कार्यवाही करते हुए उसे डिपो से बाहर का मार्ग दिखा दिया। एआरएम कार्यालय के अनुसार सुनील 12 पुत्रा रामनाथ मुजफ्फरनगर डिपो मंे संविदा परिचालक पर तैनात था। इसके माह अगस्त 18 व सितम्बर 18 के मशीन वेविल का जब निरीक्षण किया गया, तो पाया गया कि सुनील कुमार द्वारा अनावश्यक रूप से अपनी मशीन से इस अवधि में लगभग 310 बार स्टेट्स रिपोर्ट निकाली गयी। इस गंभीर अनिमियताएं बरतने के कारण इससे स्पष्टीकरण मांगा गया तथा संविदा समाप्त करने का नोटिस दिया गया।

परिचालक द्वारा विभागीय नियमांे का पालन नहीं किया गया और और इस प्रकार का अनावश्यक कृत्य कर निगम को आर्थिक हानि पहुंचायी गयी। परिचालक सुनील के द्वारा इस प्रकार का कार्य करना एक सोचनीय पहलू है। हो सकता है कि डिपो के अन्य परिचालक भी इस प्रकार का कार्य कर रहे हों, इसलिए अन्य की भी जांच आवश्यक है।

Share it
Top