लाईनों के दोहरीकरण के कार्यो में तेजी लायेंः सांसद

लाईनों के दोहरीकरण के कार्यो में तेजी लायेंः सांसद

मुजफ्फरनगर। सांसद डा. संजीव बालियान ने कहा कि जनपद की जनता एवं किसानों को सुविधा प्रदान करने के लिए रेल लाईनों के दोहरीकरण एवं अण्डरपास के लिए बॉक्स आदि के कार्यांे में तेजी लायी जाये और हर दशा में समस्त कार्य अक्टूबर के अन्त तक पूर्ण कर लिए जाये। उन्हांेने कहा कि सम्पार संख्या 47 सोन्टा पर रेलवे के कथनानुसार 4मी./5मी. साईज के अण्डरपास के लिए बॉक्स बना दिये गये थे तथा उनको लगाने की तैयारी कर ली गयी थी, लेकिन स्थानीय ग्रामीणों द्वारा बॉक्स को लगाने का कार्य रूकवा दिया गया। रेलवे के पदाधिकारियों ने बताया कि 7मी0/5.5मी. के अण्डरपास की मांग स्थानीय ग्रामीणों द्वारा की गयी। अण्डरपास का साईज बढ़ने के कारण अतिरिक्त भूमि की आवश्यकता है। प्रभावित कृषकों से भूमि क्रय की कार्यवाही डीएफसीसी द्वारा की जा रही है। भूमि क्रय किये जाने की कार्यवाही के उपरान्त अण्डरपास का निर्माण कार्य प्रारम्भ कर दिया जायेगा। उन्हांेनेे कहा कि जहां विवाद की स्थिति है, उसे उनके अथवा जिलाधिकारी के संज्ञान में लाया जाये, ताकि समस्या का तत्काल निराकरण कराया जा सके और कार्य समयबद्ध ढंग से पूर्ण कराया जा सके।

सांसद डॉ. संजीव बालियान एवं जिलाधिकारी राजीव शर्मा आज यहंा कलैक्ट्रेट सभागार में नई रेल लाईन, रेल लाईनों के दोहरीकरण और उपरिगामी सेतु इत्यादि महत्वपूर्ण परियोजनाओं पर आने वाली समस्याओं के सम्बन्ध में आयोजित बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। सांसद ने कहा कि सम्पार संख्या 48 मन्सूरपुर पर ऊपरगामी सेतु एवं मिनी अण्डरपास का निर्माण कार्य चल रहा है तथा रेलवे विभाग के पदाधिकारियों ने बताया कि भूमि के अन्दर अण्डरपास का निर्माण कार्य पूर्ण कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि जीएम शुगर मिल, मंसूरपुर डीएफसीसीआईएल तथा रेलवे विभाग के अधिकारियों द्वारा संयुक्त निरीक्षण किया गया है। जमीन अधिग्रहण की कार्यवाही की जा रही है। रेलवे विभाग द्वारा दोनांे तरफ एप्रोच का कार्य 5 अक्टूबर 2018 से प्रारम्भ कर दिया गया। अधिशासी अभियंता, लोक निर्माण विभाग द्वारा आरओबी के दोनांे ओर पर आवश्यक पक्की सड़क के निर्माण का कार्य किया जायेगा। विद्युत विभाग द्वारा जो विद्युत केबिल एप्रोच के रास्ते में आ रही है, उसे हटाने की कार्यवाही की जायेगी।

संासद ने कहा कि सम्पार संख्या 49 इस्लामाबाद जोहरा में प्रारम्भ में रेलवे के पदाधिकारियों ने बताया कि 4मी/5मी साईज का अण्डरपास प्रस्तावित था, लेकिन स्थानीय ग्रामीणों की मांग पर अण्डरपास का साईज 7मी/5.5मी. का कर दिया गया। अण्डरपास की साईज बढ़ने के कारण एप्रोच बनाने के लिए अतिरिक्त भूमि की आवश्यकता है। सांसद ने बताया कि सम्पार संख्या 50 नरा रेलवे विभाग द्वारा रोड ओवरब्रिज व रोड अण्डरब्रिज के निर्माण के लिए सर्वे किया गया, जिसमें पाया गया कि मौके पर मौजूद सड़क की चौडाई कम होने व घना बाजार व आबादी होने के कारण रेलवे ब्रिज का निर्माण सम्भव नहीं हो पाया, इसलिए लेवल क्रासिंग से लगभग 300 मीटर दूर (दिल्ली की ओर) अण्डरपास को बनाने का निर्णय लिया गया। जिसके दृष्टिगत रखते हुए रेलवे विभाग, लोक निर्माण विभाग व राजस्व विभाग के द्वारा अण्डरपास का निर्माण होने योग्य पाया गया। उप जिलाधिकारी द्वारा ग्रामवासियों के साथ बैठक की गयी। सांसद ने बताया कि सम्पार संख्या 51 सूजडू पर रेलवे के कथनानुसार 2/4/5 मी. साईज के डबल लाईन अण्डरपास के लिए बॉक्स बनाकर रेलवे लाईन के नीचे लगया दिये गये हैं और दोनांे ओर के एप्रोच के निर्माण का कार्य प्रगति पर है। रेलवे के कथनानुसार यहां पर स्थानीय लोगों का निर्माण कार्य में किसी प्रकार का कोई हस्तक्षेप नहीं है और यह कार्य शीघ्र पूर्ण कर लिया जायेगा। जिलाधिकारी राजीव शर्मा ने कहा कि समस्त कार्य माह अक्टूबर के अन्त तक पूर्ण कराया जाना सुनिश्चित किया जाये। जिससे जनपद के आम आदमी एवं किसानों को इसका लाभ मिल सके। उन्हांेने कहा कि यह भी सुनिश्चित किया जाये कि इस प्रकार की व्यवस्था बनायी जाये कि अण्डरपास में पानी का भराव न हो सके। सांसद एवं जिलाधिकारी ने कहा कि रेलवे स्टेशन मुजफ्फरनगर की नई बिल्डिंग का नक्शा तैयार किया गया है। उन्हांेने कहा कि पुरानी बिल्डिंग को हटवाकर मानक के अनुसार नई रेलवेे स्टेशन की बिल्डिंग का कार्य शीघ्र शुरू कराया जाये। सांसद ने रेलवे के अधिकारियों को राजस्थान के एक स्टेशन का डिजाईन भी दिखाया। इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी न्यायिक, रेलवे के सीएओ जगदीप राय, चीफ इंजीनियर, डिप्टी चीफ इंजीनियर, एक्जूकेटिव इंजीनियर सहित अन्य सम्बन्धित अधिकारीगण भी मौजूद रहे।

Share it
Top