भीम आर्मी ने घेरा एसएसपी ऑफिस...छात्र के हत्यारोपियों की गिरफ्तारी की मांग, तीन दलित युवकों की हत्या से आक्रोश

मुजफ्फरनगर। पुरकाजी क्षेत्र के गांव मांडला निवासी दलित मैडिकल छात्र की हत्या के मामले में आरोपियों की गिरफ्तारी न होने से क्षुब्ध भीम आर्मी के सैंकडों कार्यकर्ताओं ने आज एसएसपी कार्यालय का घेराव कर प्रदर्शन किया। भीम आर्मी के कार्यकर्ता एसएसपी कार्यालय में धरना देकर बैठ गए। बाद में उन्होने हत्यारोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर एसएसपी को ज्ञापन सौंपा, और गिरफ्तारी न होने पर आंदोलन की चेतावनी दी। गौरतलब है कि विगत 10 सितम्बर को पुरकाजी क्षेत्र के गांव मांडला निवासी रजत पुत्र टीटू दलित की बाइक सवार अज्ञात हमलावरों ने दोपहर के समय कॉलेज से घर लौटते समय गांव से बाहर सड़क पर गोली मारकर हत्या कर दी थी। घटना को लेकर काफी हंगामा भी हुआ था। पुलिस ने हंगामा कर रही भीड़ से शव छीनकर मोर्चरी भिजवाया था। मृतक की मां सरिता देवी गांव में आशा कार्यकत्री के पद पर तैनात है, वह बरला में प्राइवेट अस्पताल में भी नर्स का काम करती है। उसने पुलिस को बताया था कि शनिवार को उसके बेटे रजत ने बताया था कि कॉलेज में उसका झगड़ा हुआ है। सोमवार सुबह उसने बेटे से कहा था कि वह कॉलेज न जाए। पहले घर से कोई कॉलेज में जाकर मामले का पता करेगा, पर वह नहीं माना और कॉलेज चला गया था। वापसी के दौरान हाईवे पर वह शिवा होटल पर उतरा और वहां से पैदल ही गांव की ओर आ रहा था। बीच रास्ते में बाइक सवारों ने छाती में गोली मारकर उसकी हत्या कर दी। इस मामले में भीम आर्मी ने गांव में पंचायत कर पुलिस को दो दिन के भीतर हत्यारों की गिरफ्तारी का अल्टीमेटम दिया था। हत्यारों की गिरफ्तारी न होने पर आज भीम आर्मी के कार्यकर्ता एसएसपी कार्यालय पहुंचे और वहां प्रदर्शन कर धरने पर बैठ गए। पुलिस अफसर प्रदर्शनकारियों के बीच पहुंचे और उन्हें शीघ्र ही हत्यारोपियों की गिरफ्तारी का भरोसा दिलाते हुए बताया कि पुलिस घटना के खुलासे के नजदीक तक पहुंच गयी है। भीम आर्मी के मनजीत सिंह नौटियाल, जीतेंद्र कुमार, अजय पालीवाल, टीकम बौद्ध, दीपक बौद्ध व अनिल कुमार आदि ने आरोप लगाया कि प्रदेश में अनुसूचित जातियों का उत्पीडऩ हो रहा है। रोज कहीं न कहीं अनुसूचित जाति के युवकों की हत्या की जा रही है। उन्होने एसएसपी को ज्ञापन भी सौंपा।

Share it
Top