फर्जी मुठभेड़ का मुकदमा लिखने पर लामबंद हुए ग्रामीण, पंचायत आयोजित

फर्जी मुठभेड़ का मुकदमा लिखने पर लामबंद हुए ग्रामीण, पंचायत आयोजित

चरथावल। पुलिस द्वारा वारंटी को पकड़कर मुठभेड़ दिखाकर फर्जी मुकदमे दर्ज कराने का आरोप लगाते हुए ग्रामीणों व भाकियू कार्यकर्ताओ ने गांव महाबलीपुर में पंचायत कर जिला प्रशासन को चेतावनी दी है कि वारंटी के खिलाफ लिखे गए पुलिस मुठभेड़ के फर्जी मुकदमे को वापस करने तथा दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही करने की मांग की ग्रामीणों ने चेतावनी दी। अगर इन मांगों को नहीं माना गया तो ग्रामीण उग्र आंदोलन करेंगे ग्रामीणों ने चरथावल थाने के एसआई राजकुमार को एसएसपी के नाम ज्ञापन सौंपा गया।

चरथावल थाने के गांव महाबलीपुर निवासी मुन्नू पुत्र सेवाराम का नई मंडी थाने के एक मुकदमे का वारंट आया था। वारंट लेकर चरथावल थाने का एक सिपाही गांव महाबलीपुर गया और ग्रामीणों के सामने वारंटी मुन्नू को उठाकर थाने ले आया ग्रामीणों का आरोप है कि पुलिस ने मुन्नू का एनकाउंटर करने की भूमिका तैयार की और उसे बिरालसी क्षेत्र में ले जाकर फर्जी मुठभेड़ दिखा दी मुठभेड़ की सूचना पर ग्रामीणों ने हंगामा कर दिया तो पुलिस घायल मुन्नू को जिला अस्पताल ले गयी ग्रामीणों के धरने पर बैठ जाने के बाद थाने में पहुंचे एसपी सिटी ने ग्रामीणों को समझा बुझाकर आश्वाशन दिया था की मामले की जांच कराकर दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्यवाही की जाएगी ग्रामीणों का आरोप है कि इसके बाद भी चरथावल पुलिस ने मुन्नू के खिलाफ तीन मुकदमे दिखा दिए और पुलिस कर्मियों के खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं की इसी के विरोध में शुक्रवार को गांव महाबलीपुर में राजेंद्र प्रधान के घेर में ग्रामीणों और भाकियू कार्यकर्ताओं की पंचायत हुई पंचायत में पहुंचे कुटेसरा चौकी इंचार्ज राजकुमार को ग्रामीणों ने एसएसपी के नाम एक ज्ञापन देते हुए मांग की कि फर्जी मुठभेड़ करने वाले थानाप्रभारी विन्ध्याचल तिवारी, दरोगा संजय त्यागी व अन्य पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्यवाही, फर्जी मुकदमा वापस की मांग की ग्रामीणों ने चेतावनी दी कि अगर यह मांगे नही मानी गयी तो ग्रामीण उग्रआंदोलन करने पर मजबूर होंगे।

Share it
Share it
Share it
Top