सफाईकर्मियों के हितों की अनदेखी पर भड़का आयोग, दिए सख्त निर्देश

सफाईकर्मियों के हितों की अनदेखी पर भड़का आयोग, दिए सख्त निर्देश

मुजफ्फरनगर। राष्ट्रीय सफाई कर्मचारी आयोग के सदस्य श्रीमती मंजू दिलेर ने आज जिले में सफाई कर्मियों की समस्याएं सुनी तथा संबंधित अधिकारियों को उन पर तत्काल कार्रवाई के निर्देश दिए।

राष्ट्रीय सफाई कर्मचारी आयोग की सदस्य श्रीमती मंजू दिलेर ने आज विकास भवन में सफाई कर्मचारियों तथा उनके प्रतिनिधियों के साथ बातचीत कर उनकी समस्याओं के संबंध में जानकारी ली। बाद में पत्रकारों से वार्ता करते हुए मंजू दिलेर ने कहा कि उन्होंने सभी संबंधित विभागों से सफाई कर्मियों की समस्याओं का समाधान तेजी के साथ कराने का आह्वान किया है। सफाई कर्मियों का वेतन ऑनलाइन उनके खाते में भेजने के लिए कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं, साथ ही सफाईकर्मियों के हित में ऐसी सभी योजनाओं को तत्काल लागू करने का आदेश दिया गया है, जिनके जरिए उन्हें विभिन्न लाभ प्राप्त हो सकते हैं। आयुष्मान भारत योजना के तहत सफाई कर्मचारियों का रजिस्ट्रेशन कराया जाएगा तथा उन्हें आवास एवं अन्य योजनाओं का लाभ भी दिलाया जाएगा। उन्होंने मृतक आश्रितों को तत्काल नौकरी उपलब्ध कराने के लिए जिला प्रशासन को निर्देश दिए। कई मामलों में लंबे समय से कर्मचारियों के हित की योजनाओं को लागू न करने वाले अधिकारियों को फटकार भी लगाई गई। गांव तथा विभिन्न स्थानों पर नियुक्त किए गए सरकारी सफाई कर्मचारियों द्वारा अपने स्थान पर दूसरे लोगों को कुछ पैसे देकर कार्य कराने को लेकर भी मंजू दिलेर ने सख्ती दिखाई। उन्होंने जिला प्रशासन से ऐसे कर्मचारियों को चिन्हित करने, जिन्हें सफाई करने में शर्म आती है, उनकी सेवाएं तत्काल खत्म करने के निर्देश दिए। मंजू दिलेर ने कहा कि वह अक्टूबर में फिर से जनपद में समीक्षा बैठक करेंगी और यदि फिर से यह समस्या सामने आई, तो संबंधित अधिकारियों के खिलाफ कठोर कार्यवाही अमल में लाई जाएगी। इस दौरान जिलाधिकारी राजीव कुमार शर्मा, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सुधीर कुमार सिंह, मुख्य विकास अधिकारी अर्चना वर्मा, सिटी मजिस्ट्रेट अतुल कुमार तथा जनपद की सभी नगर पालिका और नगर पंचायतों के अधिशासी अधिकारी भी मौजूद रहे। वहीं दूसरी ओर राष्ट्रीय वाल्मीकि क्रांतिकारी मोर्चा की ओर से सदस्य राष्ट्रीय सफाई कर्मचारी आयोग को मांग संबंधी ज्ञापन दिया गया। दिये गये ज्ञापन में जिलाध्यक्ष मनुप्रिय मजदूर ने कहा कि भगवान वाल्मीकि जयंती को राष्ट्रीय अवकाश घोषित किया जाए। प्रदेश में संविदा सफाई कर्मचारियों को नियमित किया जाए, संविदा सफाई कर्मचारियों को बीमा व फंड मिलना चाहिए आदि मांगों को लेकर बताया गया।

Share it
Top