मेरठ में विरोध प्रदर्शन करने जा रहे वकीलों को मंसूरपुर पुलिस ने रोका

मंसूरपुर। पश्चिमी उत्तर प्रदेश में हाईकोर्ट बेंच की स्थापना कराने की मांग को लेकर शनिवार को मेरठ में विरोध प्रदर्शन करने जा रहे मुजफ्फरनगर के अधिवक्ताओं को थाना पुलिस ने भारी फोर्स की मदद से रोक लिया, जिसके बाद अधिवक्ताओं ने जमकर हंगामा काटा। उन्होंने पुलिस प्रशासन व सरकार के खिलाफ नारेबाजी की और कुछ देर के लिए हाईवे जाम भी किया। बाद में सभी अधिवक्ताओं को अस्थाई रूप से हिरासत में लेकर छोड़ दिया गया। शनिवार को मेरठ में भाजपा कार्यसमिति की बैठक के दौरान पश्चिमी उत्तर प्रदेश के अधिवक्ताओं ने विरोध प्रदर्शन करने की रणनीति बनाई थी। मुजफ्फरनगर से बडी संख्या में अधिवक्ता जिला बार संघ अध्यक्ष राजेश्वर त्यागी तथा सचिव सुनील दत्त शर्मा की अगुवाई में मेरठ में विरोध प्रदर्शन करने के लिए गाड़ी द्वारा जा रहे थे। जब वह थाने के सामने पहुंचे तो भारी फोर्स के साथ मौजूद पुलिस अधिकारियों ने उन्हें रोक लिया। सीओ खतौली डॉ. राजीव कुमार के साथ अधिवक्ताओं की जमकर झडप भी हुई। अधिवक्ता सडक पर बैठ गए, जिसके कारण थोडी देर के लिए हाईवे भी जाम रहा। जब पुलिस ने उनकी गाड़ी नहीं जाने दी तो पैदल ही सभी अधिवक्ता मेरठ की ओर पुलिस प्रशासन व भाजपा सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए चल दिये। बड़ी मुश्किल से पुलिस ने उन्हें समझाया और बैठकर बातचीत करने के लिए कहा। बाद में अधिवक्ताओं को अस्थाई रूप से हिरासत में लेकर थाना मंसूरपुर लाया गया। थाने में भी अधिवक्ताओं ने जमकर पुलिस प्रशासन व सरकार के खिलाफ नारेबाजी की।कई घंटे चले हंगामे के बाद पुलिस ने अधिवक्ताओं को रिहा कर दिया।

Share it
Top