विकास कार्याे की धनराशि का उचित सदुपयोग करना सुनिश्चित किया जायेः सांसद

विकास कार्याे की धनराशि का उचित सदुपयोग करना सुनिश्चित किया जायेः सांसद

मुजफ्फरनगर। सांसद डा. संजीव बालियान एवं सांसद कुंवर भारतेन्द्र ने कहा कि विकास के कार्य तेजी के साथ कराये जाये और गुणवत्ता का ध्यान रखा जाये। कार्यदायी संस्थाएं सुनिश्चित करे कि समस्त कार्य समयबद्ध सीमा में पूर्ण हो। उन्होंने कहा कि जनकल्याणकारी कार्यों तथा सरकारी योजनाओं का लाभ आम आदमी तक पहंुचना चाहिए। उन्होंने कहा कि शिक्षा में गुणवत्ता दिखाई पडे। उन्होंने कहा कि विकास कार्याें के लिए उपलब्ध करायी गयी धनराशि का समुचित सदुपयोग सुनिश्चित किया जाये तथा विकास कार्य की सूची सांसदों एवं विधायकों को भी उपलब्ध करायी जाये, जिससे वे लोग भी मौके पर जाकर किये गये कार्य को देख सके। उन्होंने कहा कि गांवों मंे विकास कार्यों के लिए जो पैसा भेजा जा रहा है, उसका पूर्ण विवरण दीवारों पर अंकित कराया जाये। इसके अतिरिक्त मनरेगा में कार्य कर चुके पंजीकृत मजदूरों की सूची भी चस्पा करायी जाये। सांसद ने निर्देश दिये कि सफाईकर्मी गांवांे में जाये और सफाई व्यवस्था में सुधार हो।
सांसद डॉ. संजीव कुमार बालियान एवं सांसद कुंवर भारतेन्द्र आज यहां विकास भवन सभागार में जिला विकास समन्वय व निगरानी समिति (दिशा) की बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। उन्होंने कहा कि मनरेगा में पैसे की कोई कमी नहीं है, मनरेगा के पैसे से जनपद में तालाबों का खुदाई, वृक्षारोपण,भूमि समतलीकरण आदि के कार्य कराये जाये। राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन की समीक्षा करते हुए सांसद ने कहा कि इस वित्तीय वर्ष का लक्ष्य 270 समूह गठन का निर्धारित किया गया था, जिसके सापेक्ष 114 समूह का गठन कर लिया गया है। 15 हजार रिवाल्विंग फंड 53 समूह को उपलब्ध कराया गया है और प्रथम क्रेडिट लिंकेज 12 समूह का कराया जा चुका है। उन्होंने बताया कि इस वर्ष महिला समूहों से 10 करोड 30 लाख की यूनिफार्म तैयार कराने का कार्य भी कराया गया, जिससे उनकी आर्थिक स्थिति में गुणत्मक सुधार हो। उ0प्र0 कौशल विकास मिशन की समीक्षा करते हुए बताया गया कि दीन दयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल्या योजना के अन्तर्गत तीन प्रशिक्षण प्रदाताओं को प्रशिक्षण खोलने हेतु आंवटित किया गया था, जिनमें से दो प्रशिक्षण प्रदाता इंदिरा गांधी कम्प्यूटर सारक्षता मिशन एवं मास इंफोटेंक्स सोसाईटी द्वारा जनपद में प्रशिक्षण केन्द्र छपार एवं शेरनगर में खोल कर 300 प्रशिक्षणार्थियों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है। उन्होंने बताया कि दो यूनिफार्म प्रशिक्षण प्राप्त करने वालों को निःशुल्क उपलब्ध करायी जाती है।
प्रधानमंत्री ग्राम सडक योजना के अन्तर्गत जनपद मंे 11 सडकें स्वीकृत हैं, जिनमें 8 पूर्ण कर ली गयी हैं और तीन पर कार्य चल रहा है। उन्होंने वृद्धावस्था योजना की समीक्षा करते हुए बताया कि वित्त वर्ष 2018-19 में 951 लाभार्थियों की पेंशन स्वीकृति की कार्यवाही पूर्ण की जा चुकी हैेे। उन्होंने बताया कि पंेेशन की धनराशि पीएफएमएस लखनऊ पोर्टल के माध्यम से लाभार्थी के खाते में सीधे हस्तांनातरित की जाती है। उन्होंने बताया कि 1651 लाभार्थियों का सत्यापन अभी तक नहीं हो पाया है। उन्होंने निराश्रित महिला पेंशन योजना की समीक्षा करते हुए बताया कि विधवा पंेशन के अन्तर्गत कुल 20 हजार 477 पेंशन स्वीकृत है तथा 2018-19 में ग्रामीण क्षेत्रा के 1096 तथा शहरी क्षेत्र 150 लाभार्थियों हेतु नयी पेंशन की स्वीकृति जिलाधिकारी द्वारा की गयी। पेंशन की धनराशि पीएफएनएस पोर्टल के माध्यम से लाभार्थी के खाते में सीधे भेजी जायेगी।
सांसद ने दिव्यांग पेंशन योजना की समीक्षा करते हुए बताया कि कुल 13 हजार 136 पेंशन स्वीकृत है। उक्त योजना के अन्तर्गत पोर्टल पर 779 लाभार्थियो का डाटा स्वीकृति हेतु लम्बित है। सांसद ने पीएम आवास योजना शहरी की समीक्षा करते हुए बताया कि मुजफ्फरनगर में शासन द्वारा 3675 आवास (10 नगर निकाय) की स्वीकृति दी गयी है। स्वीकृत आवासों की जीआईएस मैपिंग एवं जीओ टेगिंग का कार्य शासन द्वारा चयनित संस्था स्पेस कम्बाइन द्वारा किया जा रहा है। अब तक 1782 आवासों की जीआईएस मैंपिंग एवं जीओ टेगिंग कर 1351 पत्रावलि डूडा को उपलब्ध करायी गयी।
सांसद ने बताया कि जनपद मुजफ्फरनगर की समस्त ग्राम पंचायतों को 01 जनवरी 2018 को ओडीएफ घोषित किया जा चुका है। उन्होंने अधिशासी अधिकारी को निर्देश दिये कि नालो में कूडा डालने वाले के खिलाफ कार्यवाही की जाये और डेयरियों को शहर से बाहर किये जाये। उन्होंने अध्यक्ष नगर पालिका परिषद से कहा कि शहर की सफाई की रिव्यू बैठक बुलाई जाये जिसमें सांसद भी सहयोग करेंगे। उन्होंने कहा कि स्वास्थ येाजनाओं का लाभ आम जनता को मिलना चाहिए। जिलाधिकारी ने बताया कि जनपद के 5.5 लाख लोगांे को एण्टी वायरल हौम्योपैथिक दवा पिलायी गयी है जिससे उन्हें बुखार नहीं होगा। उन्होंने शिक्षा विभाग के कार्यांे की समीक्षा करते हुए कहा कि यूनिफॅार्म वितरण का कार्य तेजी से कराया जा रहा है। 10करोड 30 हजार की लागत से यूनिफार्म बनायी गयी है। 34 प्रतिशत किताबों का वितरण कराया जा चुका है। कक्षा 1 व 6 के बच्चांे को स्कूल बैगांे का वितरण कराया जा चुका है। आईसीडीएस कार्यांे की समीक्षा करते हुए निर्देश दिये कि आधार नामाकंन में तेजी लायी जाये और वीएचएनडी की बैठक हर माह की जाना सुनिश्चित किया जाये। जिलाधिकारी ने सांसद डा. संजीव बालियान एवं सांसद कंुवर भारतेन्द्र एवं विधायकगणों एवं अध्यक्ष जिला पंचायत एवं अध्यक्ष नगर पालिका परिषद का आभार व्यक्त करते हुए उन्हें आश्वस्त किया कि बैठक में दिये गये निर्देशों का अक्षरश पालन कराया जायेगा। बैठक में विधायक कपिल अग्रवाल, विधायक विजय कश्यप, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती आंचल तोमर, मुख्य विकास अधिकारी सहित चेयरमैन नगर पालिका परिषद सहित बडी संख्या में जनप्रतिनिधि एवं जनपद स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे।

Share it
Top