चिकित्सक ने उतारे शव से कुंडल...बकाया भुगतान न करने पर कुंडल अपने पास रखे, पैसे देकर वापस करने की बात कही

चिकित्सक ने उतारे शव से कुंडल...बकाया भुगतान न करने पर कुंडल अपने पास रखे, पैसे देकर वापस करने की बात कही

मुजफ्फरनगर। चिकित्सक को भले ही भगवान का दर्जा दिया जाता हो, लेकिन आज के समय में इतना घोर कलियुग है कि भगवान का दर्जा पाने वाला चिकित्सक भी शैतान बनता नजर आ रहा है। ऐसे ही एक मामले में एक नर्सिंग होम में इलाज के लिये आई महिला की मौत होने पर बिल के भुगतान में पैसे कम रहने पर चिकित्सक ने मृतक महिला के शव से कुंडल उतरवा लिये और परिजनों को चेतावनी दी कि जब तक पैसे नहीं आयेंगे, कुंडल नहीं मिलेंगे। इस बात को लेकर आज परिजनों ने नर्सिंग होम में जमकर हंगामा किया और शहर कोतवाली में तहरीर देकर चिकित्सक के खिलाफ कार्यवाही की गुहार लगाई।
जानकारी के अनुसार शहर कोतवाली क्षेत्र के मौहल्ला प्रेमपुरी निवासी 45 वर्षीया महिला सुमन पत्नी सुन्दर लाल को तीन दिन पूर्व गम्भीर बीमारी के चलते सदर बाजार स्थित बालाजी चौक के निकट डा. देवेन्द्र सैनी के नर्सिंग होम में भर्ती कराया गया था, जहां उपचार के दौरान महिला ने दम तोड दिया। महिला के परिजनों ने एडवांस में तीस हजार रूपये अस्पताल में जमा करा दिये थे। बताया जा रहा है कि जब महिला ने दम तोड दिया तो मृतका के परिजन उसका शव ले जाने लगे, जिस पर चिकित्सक ने शेष भुगतान मांगा, लेकिन परिजनों के पास पैसे नहीं थे, उन्होंने बाद में पैसे पहुंचाने की बात कह दी। आरोप है कि चिकित्सक ने मृतका के कानों से सोने के कुंडल निकलवाकर अपने पास रख लिये और उसके परिजनों को बकाया भुगतान करने पर ही कुंडल देने की बात कही। उस समय तो परिजन शव को ले गये और अंतिम संस्कार कर दिया। आज मृतका सुमन का पति सुन्दर लाल अपने परिजनों के साथ डा. देवेन्द्र सैनी के नर्सिंग होम पर पहुंचा और मृतका के शव से उतारे गये कुंडल वापस मांगे। आरोप है कि चिकित्सक ने मृतका के शव से कुंडल उतारे जाने से ही साफ इंकार कर दिया। इस बात को लेकर वहां हंगाम शुरू हो गया, जिस पर चिकित्सक ने मृतका के परिजनों से बदतमीजी शुरू कर दी। हंगामे की खबर पर शहर कोतवाली पुलिस भी वहां पहुंच गई। पीडित सुन्दर लाल ने पुलिस को बताया कि जिस समय शव से कुंडल उतारे गये, वह सीसीटीवी कैमरे में भी कैद है। पुलिस का दबाव बढने पर चिकित्सक ने उन्हें पैसे देने का प्रस्ताव रखा, लेकिन पीडितों ने पैसे लेने से इंकार कर दिया और कुंडल वापस लेने की जिद पर अडे रहे। इस बात को लेकर काफी देर तक हंगामा चलता रहा। मृतका के परिजनों ने परिजनों ने चिकित्सक के विरूद्ध शहर कोतवाली में तहरीर देकर कार्यवाही की गुहार लगाई।

Share it
Top