हाथ की छत्रछाया में कमल मुरझाया...कमल पहले ही दौर में हाथ के नीचे आ गया, कमल के पीछे-पीछे साईकिल की राह पर चला हाथी

हाथ की छत्रछाया में कमल मुरझाया...कमल पहले ही दौर में हाथ के नीचे आ गया, कमल के पीछे-पीछे साईकिल की राह पर चला हाथी

मुजफ्फरनगर (सत्येन्द्र सिंह उज्जवल)। शुक्रवार को हुई मतगणना में जनपद की नगर पालिका परिषद, मुजफ्फरनगर में वैसे तो मुकाबला कांग्रेस व भारतीय जनता पार्टी के मध्य रहा, लेकिन परिणाम को लेकर कहा जा सकता है कि यह एकतरपफा ही रहा। इसमें पहले ही चरण से कांग्रेस के हाथ के नीचे भारतीय जनता पार्टी का कमल ऐसा आया कि वह अंत तक पानी नहीं मांग सका। वह हाथ के नीचे ही रह गया और हाथ बाजी मार ले गया। पहले ही दौर में मुरझाया कमल अंत तक भरसक प्रयास करने के बाद भी खिल नहीं सका। वही अन्य प्रतिस्पर्धी समाजवादी पार्टी की साईकिल व बहुजन समाज पार्टी का हाथी वैसे तो चले, लेकिन दोनों की रफ्रतार पहले दौर से लेकर अंत तक एक समान सी ही रही। वहीं दूसरी ओर रालोद की यदि बात की जाए, तो उसके नल का पानी तो मतदान के पूर्व ही सूख चुका था। वह तो जमानत भी नहीं बचा सका। अंत में बाजी कांग्रेस के हाथ (पंजा) के नाम 11190 से रही। उसने कुल 62590 मत अपने नाम किये। वहीं दूसरी ओर कमल को कुल 51400 मत से ही संतोष करना पड़ा। बसपा के हाथी ने धीमी चाल चल कर कुल 11389 मत लिये तथा वहीं सपा की साईकिल ने चलते हुए कुल 14514 मतों को अपने हक में किया। रालोद के नल के हिस्से में तो केवल 581 मत ही आ सके। जैसा कि अनुमान लगाया जा रहा था कि कांग्रेस बैक टू पैवेलियन हो सकती है। हुआ भी ऐसा ही। बस अंतर यह रहा कि पहले पंकज अग्रवाल थे, अब अंजू अग्रवाल हैं। मतगणना की यदि बात की जाए, तो कांग्रेस का हाथ पहले ही दौर में आगे हो गया, उसने पहले दौर में कुल 15304 मत हासिल किये। वहीं भाजपा के कमल को कुल 12809 मत मिले। इस प्रकार से पहले ही दौर में कांग्रेस के हाथ ने 2495 मतों की बढ़त हासिल कर ली, जो कि अजेय बढ़त बनी तथा अंत तक बरकरार रही। वहीं अन्य प्रतिस्पर्धी सपा की साईकिल को 3687 मत मिले तथा बसपा के हाथी को 2777 व रालोद के नल को 145 मत। इसके बाद दूसरे दौर में स्थिति इसी प्रकार की रही। कांग्रेस का हाथ दूसरे दौर में भी आगे ही रहा, उसने कुल 16131 मत हासिल किये। वहीं भाजपा के कमल को कुल 12344 मत मिले। इस प्रकार से दूसरे दौर में कांग्रेस के हाथ ने 3787 मतों की बढ़त हासिल कर दोनों दौर में कुल 6282 मतों की बढ़त बना ली थी, वहीं अन्य प्रतिस्पर्धी सपा की साईकिल को 3773 मत मिले तथा बसपा के हाथी को 2629 व रालोद के नल को 134 मत।
तीसरे दौर की यदि बात की जाए, तो कांग्रेस का हाथ इस दौर में भी आगे हो गया, उसने कुल 15646 मत हासिल किये। वहीं भाजपा के कमल को कुल 13114 मत मिले। इस प्रकार से तीसरे दौर में कांग्रेस के हाथ ने 2532 मतों की बढ़त हासिल कर ली, साथ ही कुल बढ़त हो गयी थी 8814 मतों की। वहीं अन्य प्रतिस्पर्धी सपा की साईकिल को 3344 मत मिले तथा बसपा के हाथी को 2793 व रालोद के नल को 163 मत। चौथे दौर में तो दूध का दूध व पानी का पानी हो गया। चौथे दौर में भी कांग्रेस का हाथ खूब चला। उसने इस अंतिम दौर में कुल 15448 मत अपने नाम किये, कमल को कुल 13063 मत मिले। इस प्रकार से कांग्रेस के हाथ (पंजा) ने चौथे व अंतिम दौर में भी बढ़त ली, जो कि 2385 मतों की रही। वहीं सपा को 3695, बसपा के हाथी को 3175 तथा रालोद के नल को 139 मत ही मिल सके। पूरी मतगणना में कांग्रेस के पंजे का ही बोलबाला रहा। भाजपा का कमल केवल डाक मत पत्रों में ही कांग्रेेस के हाथ से बाजी मार गया, उसने कांग्रेस के 61 के मुकाबले 70 मत हासिल किये। वहीं दूसरी ओर साईकिल के हिस्से 15 , बसपा के हाथी के हिस्से 15 आये तथा रालोद का नल इस डाक मतों के मामले में अभागा ही रहा, उसे एक भी मत नहीं मिल सका। कांग्रेस के हाथ को पूरी बाजी में कुल 62590 मत, कमल को 51400, सपा की साईकिल को 14514, बसपा के हाथी को11389 तथा रालोद के नल को 581 मत ही मिल सके। इस प्रकार से कांग्रेस के पंजे के हाथों यह चुनावी बाजी 11190 मतों से हाथ लगी। 450 ने नोटा का प्रयोग किया।

सं. उम्मीदवार पार्टी पहलादौर दूसरादौर तीसरादौर चौथादौर डाकमत कुल योग
1. अंजू अग्रवाल कांग्रेस 15304 16131 15646 15448 61 62590 (विजय)
2. सुधराज शर्मा भाजपा 12809 12344 13114 13063 70 51400
3. मिथलेशपाल सपा 3687 3773 3344 3695 15 14514
4. मुदस्सिरजहां बसपा 2777 2629 2793 3175 15 11389
5. शबनम रालोद 145 134 163 139 00 581
6. नोटा 110 123 121 91 00 445
कुल विधिमान्य मतों की संख्या 34832 35134 35181 35611 161 140919
प्रतिक्षेपित मतों की संख्या 1016 1050 1067 1014 4 4151
कुल मतों की संख्या 35848 36184 36248 36625 165 145070

Share it
Top