मुजफ्फरनगर: कचहरी में बदमाशों के दो गुट आये आमने-सामने...गौरा उर्फ गौरव व उसके भाईयों को विपुल खूनी व दानिश ने दी देख लेने की धमकी

मुजफ्फरनगर। कचहरी परिसर स्थित सदर हवालात में आज उस समय हंगामा खडा हो गया, जब जेल से पेशी पर लाये गये दो बन्दी आपस में ही भिड गये। पुलिस ने बामुश्किल किसी तरह मामला शान्त किया। इस घटना को लेकर काफी देर तक कचहरी परिसर में अफरा-तफरी मची रही। एक बंदी के परिजनों ने दूसरे बन्दी पर रंगदारी मांगने का आरोप लगाया और इसी बात को लेकर दोनों पक्षों में हंगामा खडा हो गया।
जानकारी के अनुसार खतौली कस्बा निवासी भाजपा नेता राजा बाल्मीकि की हत्या के आरोप में जिला जेल में बंद गौरा उर्फ गौरव बाल्मीकि की आज कोर्ट में पेशी थी। इसके अलावा राजा बाल्मीकि हत्याकाण्ड समेत अन्य संगीन मामलों में जिला कारागार में बंद कुख्यात विपुल खूनी व दानिश की भी आज कोर्ट में पेशी थी। पुलिस सूत्रों के अनुसार जब गौरा उर्फ गौरव बाल्मीकि को अदालत में पेश करने के बाद सदर हवालात लाया जा रहा था, तभी कोर्ट कम्पाउण्ड में ही विपुल खूनी व दानिश ने गौरा उर्फ गौरव, उसके भाई मनोज व विक्की से गाली-गलौच करनी शुरू कर दी। इसी बात को लेकर दोनों पक्षों में काफी देर तक कहासुनी होती रही। आरोप है कि विपुल खूनी व दानिश ने गौरा व उसके भाईयों से रंगदारी की मांग की और रकम न देने पर उसके परिवार को जान से मारने की धमकी भी दे डाली। दोनों पक्षों के साथ चल रहे पुलिसकर्मियों ने उस समय तो किसी तरह मामला शान्त कर दिया, लेकिन सदर हवालात के सामने एक बार फिर दोनों पक्षों का आमना-सामना हो गया। आरोप है कि दानिश व विपुल खूनी ने गौरा उर्फ गौरव के साथ धक्का-मुक्की करनी शुरू कर दी। दोनों पक्षों में जमकर गाली-गलौच व एक-दूसरे को देख लेने की धमकी देने पर वहां हंगामा खडा हो गया। मामला बढता देख पुलिस ने बामुश्किल दोनों पक्षों को अलग किया और उन्हें अलग-अलग गाडियों में बैठाकर जिला जेल में वापस ले गये। इस दौरान कचहरी परिसर में काफी देर तक अफरा-तफरी मची रही और बडी संख्या में पुलिसबल भी मौके पर पहुंच गया। वहां पर लोगों की भी काफी भीड लग गयी।

Share it
Top