निकाय चुनाव में टिकट वितरण के विरोध में देर रात्रि तक हंगामा जारी, महिला नेत्री ने दी आत्मदाह की धमकी ...महिलाओं ने फूंका सांसद-विधायक का पुतला

मुजफ्फरनगर। केन्द्र व प्रदेश की सत्ता में काबिज भारतीय जनता पार्टी में नगर निकाय चुनाव के लिये प्रत्याशी घोषित होते ही जमकर बवाल शुरू हो गया है। टिकट न मिलने से गुस्साये दावेदारों ने अपने समर्थकों के साथ शिव चौक पर हंगामा करते हुए सांसद व विधायक के पुतले फूंके। मौके पर पहुंचे सांसद व विधायक के साथ महिलाओं ने धक्का-मुक्की करते हुए गाली-गलौच की। गुस्साई महिलाओं व भाजपा कार्यकर्ताओं ने शिव चौक पर अनिश्चितकालीन धरना शुरू कर दिया है। उन्होंने चेतावनी दी है कि मतदान के दिन तक धरना जारी रहेगा। आंदोलन कर रही महिलाओं ने सांसद-विधायक समेत जिम्मेदार पदाधिकारियों पर मोटी रकम लेकर टिकट बेचने का गम्भीर आरोप भी लगाया। देर रात्रि में विधायक कपिल देव अग्रवाल पुलिस बल के साथ शिवचौक पहुंचे और धरना दे रही महिलाओं को समझा-बुझाकर धरना समाप्त करने का अनुरोध किया। गुस्साई महिलाओं ने कपिल देव हाय-हाय के नारे लगा दिये। भाजपा नेत्री सुनीता शुक्ला ने तो आत्मदाह तक की धमकी दे डाली, जिससे वहां हडकम्प मच गया। धरनारत महिलाएं शिवचौक पर ही जमीं हुई थीं।
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की छवि की बदौलत केन्द्र व प्रदेश की सत्ता पर काबिज होने वाली भारतीय जनता पार्टी में नगर निकाय चुनाव को लेकर चल रही मारामारी में आज उस समय नया मोड आ गया, जब मुजफ्फरनगर नगरपालिका परिषद् अध्यक्ष पद के लिये प्रत्याशी घोषित होते ही विरोध शुरू हो गया। लगभग सात माह पूर्व बसपा छोडकर भाजपा में शामिल होने वाले अरविंद राज शर्मा की पत्नी सुधाराज शर्मा को बीती रात भाजपा हाईकमान ने प्रत्याशी घोषित किया था। गत दिवस टिकट घोषित होने के बावजूद भाजपा कार्यकर्ताओं व दावेदारों के मन में जो गुस्सा था, वह आज बाहर आ गया। आज दोपहर के समय एक तरफ जहां भाजपा प्रत्याशी सुधाराज शर्मा कचहरी में नामांकन दाखिल करा रही थी, वहीं दूसरी ओर भाजपा प्रत्याशी का जबरदस्त विरोध भी शिव चौक पर शुरू हो चुका था। भाजपा नेत्री रेणु गर्ग के नेतृत्व में सैंकडों महिलाएं शिव चौक पर पहुंची और पूर्व केन्द्रीय मंत्री व मुजफ्फरनगर लोकसभा क्षेत्र से भाजपा सांसद डा. संजीव बालियान व नगर विधायक कपिल देव अग्रवाल पर तीन करोड रूपये में टिकट बेचने का आरोप लगाकर जमकर हंगामा किया और फिर दोनों के पुतले भी जलाये। महिलाओं ने शिव चौक पर ही धरना भी शुरू कर दिया। इसी बीच भाजपा प्रत्याशी सुधाराज शर्मा के प्रति अरविंद राज शर्मा को जब इस बात की जानकारी हुई कि उनके खिलाफ शिव चौक पर महिलाओं ने धरना शुरू कर दिया है, तो वह तुरंत शिव चौक पर पहुंचे और धरनारत महिलाओं के सामने हाथ जोडकर धरना समाप्त करने और समर्थन देने का अनुरोध किया, लेकिन महिलाएं और ज्यादा उत्तेजित हो गई और उन्होंने अरविंद राज शर्मा के सामने ही भाजपा प्रत्याशी को पैराशूट प्रत्याशी बताते हुए खरीखोटी सुनानी शुरू कर दी। मामला बिगडता देख अरविंद राज शर्मा ने वहां से जाना ही बेहतर समझा। उन्होंने इस बात की जानकारी सांसद डा. संजीव बालियान, नगर विधायक कपिल देव अग्रवाल, जिलाध्यक्ष रूपेन्द्र सैनी, जिला महामंत्री हरीश अहलावत समेत पार्टी के वरिष्ठ अधिकारियों को फोन पर दी। इसी बीच सांसद व विधायक को भी अपने सूत्रों से इस बात का पता चल गया था कि शिव चौक पर उनके पुतले फूंक दिये गये हैं तथा उनके खिलाफ धरना भी शुरू हो गया है। इस पूरे घटनाक्रम की जानकारी पार्टी हाईकमान को भी मिल चुकी थी। मीडियाकर्मी भी बडी संख्या में वहां पहुंचे और न्यूज चैनलों पर भी इस पूरे घटनाक्रम की सुर्खियां छाने लगी। भाजपा हाईकमान के निर्देश पर सांसद डा. संजीव बालियान, विधायक कपिल देव अग्रवाल, जिलाध्यक्ष रूपेन्द्र सैनी, जिला महामंत्री हरीश अहलावत समेत सभी वरिष्ठ पदाधिकारी शिव चौक पर पहुंचे। सांसद-विधायक व जिलाध्यक्ष को देखते ही महिलाओं का पारा चढ गया। महिलाओं के बीच पहुंचकर सांसद-विधायक ने सफाई देनी शुरू की तो आंदोलनरत महिलाओं ने भी दोनों पर जमकर भडास निकाली और उन्हें खरी-खोटी सुनानी शुरू कर दी। इस दौरान सांसद-विधायक के साथ महिलाओं ने धक्का-मुक्की करते हुए गाली-गलौच भी की। एक उत्तेजित महिला ने तो दोनों को चूडी तक भेंट करने की बात कह डाली। आंदोलनरत महिलाओं ने चेतावनी दी कि यदि इसी तरह मोटी रकम में टिकट बेचे जाने लगे तो कार्यकर्ताओं का मनोबल टूट जायेगा और पूरा जीवन पार्टी के लिये समर्पित करने वाले कार्यकर्ताओं का वरिष्ठ पदाधिकारियों से विश्वास उठ जायेगा। महिलाओं का कहना था कि पार्टी के समर्पित कार्यकर्ताओं को दरकिनार करते हुए केवल पैसे के बल पर पैराशूट प्रत्याशी को कार्यकर्ताओं के सिर पर जबरन थोप दिया गया है। उन्होंने चेतावनी दी कि किसी भी सूरत में वह पार्टी प्रत्याशी का समर्थन नहीं करेंगे और मतदान के दिन तक शिव चौक पर अनिश्चितकालीन धरना चलता रहेगा। सांसद-विधायक समेत सभी पदाधिकारी महिलाओं का उग्र रूप देखकर वहां से खिसक लिये। देर सायं तक भी धरना जारी रहा। महिलाओं ने धरनास्थल पर ही अपने बिस्तरे लगवाकर घरों से रजाई मंगवा ली और चूल्हा जलाकर खाना बनाना भी शुरू कर दिया। पार्टी के वरिष्ठ पदाधिकारीगण डैमेज कंट्रोल करने में पूरी तरह जुट गये हैं, लेकिन हाल फिलहाल महिलाओं का गुस्सा किसी भी सूरत में कम होने की स्थिति में दिखाई नहीं दे रहा है। इस दौरान पूर्व विधायक सुशीला अग्रवाल, सरिता अरोरा शर्मा, एकता गुप्ता, सुनीता शर्मा, रेखा अग्रवाल, बबीता तायल, साधना सिंघल, रेणु चौधरी, सरला धीमान, महेशो चौधरी, सुनीता शुक्ला, सुषमा पुंडीर, सुखबाला, श्रीमती लोकेश, श्रीमती सुबोध चौधरी, श्रीमोहन तायल, सुनील सिंघल, लीलाराम अग्रवाल, सतीश गोयल, विकल्प जैन, प्रवीण शर्मा, प्रेमी छाबडा, मनुप्रिय मजदूर, सुनील मित्तल, वैभव त्यागी, शरद कपूर, दीपांशु अग्रवाल, मनोज शर्मा, संजय अरोरा, योगेश वर्मा, सचिन मल्होत्रा, अम्बरीश गोयल, केशव झाम्ब, अनिल नामदेव, कन्हैया शर्मा, दीपक अग्रवाल, अजय बंसल, नितिन मलिक, अमित मित्तल, विजय गुप्ता, विकास मिश्रा, आकाश कुमार समेत बडी संख्या में भाजपा कार्यकर्ता मौजूद रहे।
इसी बीच देर रात्रि में विधायक कपिल देव अग्रवाल पुलिस बल के साथ शिवचौक पर पहुंचे और धरना दे रही महिलाओं को समझा-बुझाकर धरना समाप्त करने का अनुरोध किया। धरनारत महिलाओं ने कपिल देव हाय-हाय के नारे लगाने शुरू कर दिये, जिससे वहां अफरा-तफरी मच गयी। टिकट की प्रबल दावेदार सुनीता शुक्ला ने आत्मदाह की चेतावनी तक दे डाली। जिला पंचायत सदस्य के पति नितिन मलिक ने बीच-बचाव करना चाहा तो सीओ सिटी हरीश भदौरिया ने नितिन मलिक को हडका दिया, जिस पर वह वहां से चला गया। विधायक का कहना था कि टिकट देने का अधिकार हाईकमान को है और टिकट वितरण में उनका कोई रोल नहीं है, लेकिन महिलाएं कुछ भी सुनने को तैयार नहीं थीं। समाचार लिखे जाने तक महिलाओं का शिवचौक पर धरना जारी था।

Share it
Top