भट्टा स्वामी की गोली मारकर हत्या...मोरना-भोकरहेडी मार्ग पर अज्ञात बदमाशों ने दिया घटना को अंजाम

भोपा। भट्टा स्वामी की अज्ञात बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी। हत्या के समाचार से क्षेत्र में हडकम्प मच गया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने घटना की जानकारी प्राप्त की तथा शव के पास पडे पैसे, खाली बोतलें आदि को इकट्ठा किया। मौके पर पहुंची फोरेन्सिक टीम व डॉग स्क्वॉयड ने घटनास्थल का गहनता से निरीक्षण किया। पुलिस ने शव को सील कर मैडिकल परीक्षण के लिए भेज दिया है। मृतक के पुत्र विनीत उर्फ नीटू ने अज्ञात हत्यारों के विरूद्ध तहरीर देकर कार्यवाही की मांग की है।
थाना भोपा क्षेत्र के मोरना-भोकरहेडी मार्ग पर स्थित शिव ब्रिक फील्ड नामक ईट भट्टे के तीन पार्टनर त्रिपाल सिंह निवासी वजीराबाद, जगत सिंह भोकरहेडी व सुरेश छछरौली भट्टे का संचालन करते थे। लगभग 7 वर्ष पूर्व त्रिपाल का स्वर्गवास हो जाने के बाद एक हिस्से को स्व. त्रिपाल के चार पुत्र देवेन्द्र, सतेन्द्र, जितेन्द्र व नीटू तथा परिवार की 90 बीघा जमीन की भी चारों भाई संयुक्त रूप से देखभाल करते रहे हैं। 45 वर्षीय जितेन्द्र अलग से बोलेरो गाडी चलाकर ट्रांसपोर्ट का कार्य भी करता था। रविवार शाम जितेन्द्र घर से भट्टे पर जाने को कहकर गया था। सोमवार सवेरे लगभग 7 बजे भट्टे से 100 मीटर की दूरी पर पश्चिम दिशा में स्थित ट्यूबवैल के पास भट्टे के मुनीम प्रेम ने जितेन्द्र के शव को खून से लथपथ हालत में पाकर परिजनों को सूचना दी। जितेन्द्र की कनपटी के नीचे सटाकर उच्च क्वालिटी के शस्त्र से गोली मारी गयी। जितेन्द्र अक्सर रात में भट्टे पर विश्राम करता था। जिस कारण परिजनों को किसी प्रकार की अनहोनी की आशंका नहीं हुई। शव के पास उसकी नई मोटर साईकिल पडी थी, जिसको उसने गत धनतेरस के दिन खरीदी थी। सूचना पर पहुंची डायल 100 की पीआरवी 2233 की पुलिस व भोपा क्षेत्राधिकारी मौ0 रिजवान, थाना भोपा प्रभारी विजय सिंह, वरिष्ठ उपनिरीक्षक ओएन पाण्डेय, मोरना चौकी प्रभारी तेजसिंह यादव ने घटना की जानकारी प्राप्त की तथा पफोरेन्सिक टीम को बुलाया। मौके पर पहुंची डॉग स्क्वॉयड के खोजी कुत्ते ने शव से दक्षिण दिशा में स्थित मोनू पुत्र विरेन्द्र की ट्यूबवैल पर जाकर गंध ली। जितेन्द्र की अचानक मौत से परिवार में कोहराम मच गया है। मृतक जितेन्द्र अपने पीछे पत्नी रीटा सहित 22 वर्षीय पुत्र विनीत व 19 वर्षीय पुत्राी शिवी को छोड गया है। त्रिपाल के परिवार को सभ्य परिवारों में शुमार किया जाता है।

Share it
Top